ग्रेटर वाइट फ़्रंटीर गूस पक्षी जयपुर के बरखेड़ा में देखा गया

 ग्रेटर वाइट फ़्रंटीर गूस पक्षी जयपुर के बरखेड़ा में देखा गया 


जयपुर l ग्रेटर वाइट फ़्रंटीर गूस भारत के लिए एक दुर्लभ पक्षी है। यह पहली बार जयपुर मे ग्राम बरखेड़ा मे देखा गया। इसे सबसे पहले ब्रजराज सिंह सिरस ने देखा जोकी उस समय अपने पुत्र सूर्य प्रताप सिरस और मित्र भरत सिंह खेड़ा के साथ वहाँ फ़ोटोग्राफ़ी करने गए थे, उसी समय ये चिड़िया बार हेडेड गीस के झूँड में एक मात्र विचरण कर रही थी। तत्काल सूर्य प्रताप सिरस ने इसकी तस्वीर किशन मीना (पक्षी विशेषज्ञ) से साँझा की ताकि इसकी विश्वसनीय पता चल पाए जो की उनका अंदेशा सही साबित हुआ। यह अपने करीबी लेसर वाइट फ़्रंटीर गूस से बहुत मिलता है, एकमात्र अंतर इनकी आँखो के घेरे के चारों और एक पीले रंग के घेरे से पता लगाया जा सकता है। 


लेसर वाइट के आँख के पीला घेरा रहता है जबकि ग्रेटर वाइट के नहीं होता है। यह पक्षी तुंद्रा इलाक़ा मे   रुस एवं ग्रीनलैंड में पाया जाता है। इसके पेट पर सफ़ेद और काली धारियां होती है जिसकी वजह से उत्तर अमेरिका में इसे स्पेकल बेली के नाम से भी जाना जाता है। इसे आख़िरी बार गुजरात मे 2013  में देखा गया था। 


 इसे देखने के लिए ललित शर्मा सहित ब्रजराज सिंह सिरस, भरत सिंह खेड़ा, सूर्य प्रताप सिरस,रघुनन्दन सिंह करणसर एवं अनेक पक्षी प्रेमी, फोटोग्राफेर, विशेषज्ञ पहुँचे।

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ