स्वास्थ्य से जु़ड़ी जरूरतों को पूरा करने के लिए ‘श्यूराइट’ हेल्थकेयर सॉल्यूशन लॉन्च किया

  स्वास्थ्य से जु़ड़ी जरूरतों को पूरा करने के लिए

‘श्यूराइट’ हेल्थकेयर सॉल्यूशन लॉन्च किया


(Photo Caption L-R)
Dr. C.S. Mukherjee, Dr. Amit Ghose, Ms. Smita Bajoria, CEO and Managing Director, Essentially Healthy Pvt Ltd (EHPL), Dr. Nandini Ray and Shri S.K. Bajoria at the launch of "Surite" one-stop digital healthcare solution App in Kolkata.

 कोलकाता: 19 मार्च। एसेंशियली हेल्दी प्राइवेट लिमिटेड (इएचपीएल), जो कि एस.के. बाजोरिया ग्रुप कंपनी का एक हिस्सा है, इस कंपनी की तरफ से लोगों को शेहतमंद रखने के लिए श्यूराइट एप लॉन्च किया गया। डिजीटल तकनीक से हेल्थकेयर से जुड़ी समस्याओं का समाधान करने के साथ यह एप आपको शेहतमंद बनाये रखने में काफी मददगार साबित होगा। इसे ऐप स्टोर और प्ले स्टोर दोनों ही के माध्यम से ‘श्यूराइट’ एप को डाउनलोड किया जा सकेगा। हमारे वेब पोर्टल www.surite.in पर भी यह सहजतापूर्वक उपलब्ध है।

प्रौद्योगिकी एवं कुदरत की शक्ति के उपयोग से श्यूराइट एप स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं, आपूर्तिकर्ताओं और निर्माताओं को एक साथ सामान्य मंच पर लाता है और उन्हें बेहतर और सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर कल्याणकारी उत्पादों के जरिये लोगों को अपने साथ जोड़ने में मदद करता है।

सुश्री स्मिता बाजोरिया (मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक, ईएचपीएल) ने कहा: भारत की डिजिटल हेल्थकेयर क्रांति में श्यूराइट सबसे आगे होंगा। हम उच्च गुणवत्ता के साथ सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं देकर पूरे भारत में अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम समय की जरूरतों को ध्यान में रखकर और बेहतर डिजिटल चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करने के मामले में बदलाव करते रहेंगे।

श्यूराइट यह सुनिश्चित करता है कि इसके उपयोगकर्ता, सेवा प्रदाता, विक्रेता, ग्राहक और लोग वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप के माध्यम से इससे जुड़नेवाले अन्य सभी लोग समय पर सही जानकारी, सेवाएं और सुझाव प्राप्त कर सकें। श्यूराइट को कोसिविव हेल्थकेयर सेवाओं के महत्व को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किया गया है। इसका मूल उद्देश्य स्वास्थ्य सेवा उद्योग में लोगों के बीच वर्तमान समस्याओं को दूर करना है।

लॉन्चिंग के पहले चरण में डॉक्टर, परामर्शदाता और डायग्नोस्टिकसेंटर से जुड़े अधिकारी एवं प्रतिनिधि इसका इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके अलावा इसमें एक ई-फार्मेसी और वेलनेस स्टोर में हेल्थकेयर और वेलनेस उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला की स्थापना की गई है। डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म बाद में यह एक समग्र स्वास्थ्य सेवा प्रदाता बनने के उद्देश्य से विभिन्न वर्टिकल को रोल आउट करेगा और लोगों को सहायता प्रदान करेगा, क्योंकि हम हमेशा बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने का प्रयास करते हैं।

श्रीमती बाजोरिया ने कहा, हम भारत में स्वास्थ्य सेवाओं, उत्पादों और टेली-मेडिसिन के सबसे बड़े वेब और मोबाइल-आधारित एग्रीगेटर और फैसिलिटेटर बनना चाहते हैं। जिससे हर समय लोगों से जुड़े रहकर उनकी सेवा कर सके.

श्यूराइट विभिन्न तरह के स्वास्थ्य देखभाल से जुड़ी उत्पादों और सेवाओं तक सस्ती पहुंच प्रदान कर सकेगा:

 डॉक्टर नियुक्तियां: श्यूराइट एप से जुड़कर शहर में कभी भी और कहीं से भी अपनी समस्याओं को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में बताकर डॉक्टर से परामर्श ले सकते हैं!

 रोजाना परीक्षण: एक साधारण प्रयोगशाला परीक्षण या व्यापक स्वास्थ्य पैकेज, उपयोगकर्ता के सामर्थ्य के अनुकूल यह ऐप सब कुछ ला सकेगा।

 फार्मेसी स्टोर: अपने घर के आराम से ऑनलाइन दवाओं का ऑर्डर करें और हमारे जरिये उन्हें बिना किसी झिझक व परेशानी के अपने दरवाजे से उसे कलेक्ट कर लें।

 वेलनेस स्टोर: मेडिकल उपकरण से लेकर ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थों तक, मनोरंजन के सुख से लेकर वेलनेस कपड़ों तक, श्यूराइट आपके द्वार तक पहुंचाई जाने वाली हर चीज को लाएगा !

 अस्पताल में भर्ती सेवाएं: श्यूराइट रोगियों को बिना किसी परेशानी के सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास अस्पताल में भर्ती होने में मदद करता है।

 एम्बुलेंस सेवाएं: श्यूराइट के साथ जुड़कर  कोई भी कभी भी और कहीं भी एम्बुलेंस सेवाओं को बुक कर सकता है।

 होम केयर सेवाएं: नर्सिंग, फिजियोथेरेपी, व्यक्तिगत प्रशिक्षकों और अन्य ऐसी ही सेवाओं को श्यूराइट के साथ घर पर आराम से प्राप्त करें।

 उपयोगी सेवाएं: श्यूराइट सदस्यता-आधारित चिकित्सीय सेवा प्रदान  करने में सक्षम है, जिसमें व्यक्तिगत डॉक्टर का दौरा, स्वास्थ्य जांच, स्वास्थ्य और पोषण, चिकित्सा देखभाल, बुजुर्गों की देखभाल, बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए फिटनेस, और आपके घर पर कई अन्य शामिल हैं।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ