चीन में पतियों को नपुंसक बना रही हैं पत्नियां,

चीन में पतियों को नपुंसक बना रही हैं पत्नियां,ये है असली वजह


चीन में पतियों को दवा खिलाकर नपुंसक बना रही हैं पत्नियां, ये है असली वजह

सोशल मीडिया के एक पोस्ट के अनुसार चीन में कुछ पत्नियां अपने पति को कुछ ऐसी दवाइयां खिला रही हैं, जो उन्हें नपुंसक बना रहा है ताकि वह अपनी पत्नियों को धोखा न दे सकें. ये पोस्ट एक व्यक्ति द्वारा लिखी गई है जिसने उन दवाओं को बेचने वाली ऑनलाइन दुकानों को सबके सामने लाने की कोशिश की है. पोस्ट में दावा किया गया है कि कुछ पत्नियां अपने पति को डायथाइलस्टिलबेस्ट्रोल, एक सिंथेटिक एस्ट्रोजेन दवा खिला रही थीं ताकि वह यौन संबंध न बना सकें और पत्नियों को धोखा न दे सकें। 

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की एक खबर के अनुसार Xiaoxiang Morning Herald ने बताया कि ये पोस्ट वायरल हो गई थी और स्क्रीनशॉट से पता चला था कि कुछ महिलाओं ने इस दावे के बारे में बताते हुए मैसेज दिया था जिसमें कहा गया था कि इस रणनीति ने अच्छे परिणाम दिए हैं. इस बारे में एक महिला ने टिप्पणी करते हुए कहा है- पति को दवा देने के बाद उसे प्रभावी होने में लगभग दो सप्ताह लग गए. मेरे पति अब घर में बहुत अच्छे हैं। 

वहीं एक इन्य महिला ने लिखा- मेरे पति ने इसका इस्तेमाल करने के बाद यौन रोग का सामना किया और खुद से पूछा कि 'क्यों?' मुझे दोष मत दो. मैंने परिवार के लिए इसे किया और उन पर इसका इस्तेमाल जारी रखूंगी. चीन के हुनान इलाके में Xiaoxiang Morning Herald के एक रिपोर्टर ने बाद में DES को एक ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म पर खोजा और कुछ दुकानों को पाया जो दवा का विज्ञापन नहीं करते थे, लेकिन उनका कहना था कि इसे पतियों को दिया जा सकता है. दुकान के एक सहयाक ने यहां तक कहा कि आप जो मन चाहे खरीदो लेकिन हम DES बेचते रहेंगे। 

50 ग्राम दवा 90 युआन में, 170 युआन में 100 ग्राम और 320 युआन में 200 ग्राम दवा खरीदी जा सकती है. दुकानदार ने बताया कि कई लोगों ने इसे खरीदा. एक महीने में कम से 100 लोगों ने इसे खरीदा है. Xiaoxiang Morning Herald के रिपोर्टर ने अन्य दुकानों में पता किया तो वहां दवा अनुपलब्ध थी. वहीं एक दुकान ने कहा कि यह केवल जानवरों पर इस्तेमाल किया जा सकता है. साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने कई प्रमुख ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्मों पर दवा की खोज की लेकिन बिक्री के लिए कोई उत्पाद नहीं मिला। 

दुकानदार ने रिपोर्टर को बताया कि यह दवा एक गंधहीन सफेद पाउडर के रूप में आती है जिसे पानी में घोल दिया जाता है. एक या दो ग्राम हर रोज दिन के सभी मील में सावधानीपूर्वक जोड़ा जा सकता है. हुनान के सेकंड पिपल्स हॉस्पिटल के एक फार्मासिस्ट लुओ मो ने बताया कि DES मुख्य रूप से महिलाओं के लिए एस्ट्रोजन की कमी और पीरियड्स के विनियमन के लिए इस्तेमाल किया गया था, लेकिन इसे खत्म किया जा रहा था क्योंकि एस्ट्रोजेन के अधिक प्राकृतिक ऑप्शन अब उपलब्ध हो चुके हैं। 

इस दवा को लेने से पुरुषों की यौन क्षमता प्रभावित हो सकती है और इसे लंबे समय तक नहीं लिया जाना चाहिए क्योंकि यह हार्ट के लिए खतरनाक साबित हो सकती है और पाचन क्रिया को भी बिगाड़ सकती है. लुओ मो ने बताया कि यह दवा जननांगों के कैंसर का कारण भी बन सकती है और इसे भोजन में प्रतिबंधित कर दिया गया है. इसे केवल डॉक्टरों के परामर्श अनुसार ही लेना चाहिए। (news18.com)

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ