मंदिरों की भूमि से अवैध कब्जे हटेंगे..बनेगा कानून

 पुजारी मौत मामला 

मंदिरों की भूमि से अवैध कब्जे हटेंगे..बनेगा कानून

पुजारी की देह का विवादित भूमि पर हुआ अग्नि संस्कार


मन्दिर माफी की जमीनों के लिए सरकार करेगी समिति गठित


संभागीय आयुक्त को सौंपी जांच जमीन हड़पने की जांच आईजी को



 जयपुर,11 अप्रैल। पुजारी शंभू दयाल की मौत के मामले को लेकर पिछले 9 दिनों से चल रहा आंदोलन रविवार को सरकार के साथ वार्ता होने के बाद संपन्न हुआ।

इसके बाद रविवार को पुजारी शंभू दयाल का अंतिम संस्कार किया गया।
महुआ उपखंड के टिकरी गांव निवासी पुजारी शंभू दयाल की मौत के मामले को लेकर पिछले 9 दिनों से चल रहा आंदोलन रविवार को सरकार से वार्ता होने के बाद संपन्न हुआ।
रविवार को सचिवालय में हुई वार्ता के बाद गहलोत सरकार ने भाजपा नेताओं की सभी मांग मान ली है।
इसके बाद शव का अंतिम संस्कार करने और धरना खत्म करने पर सहमति बनी थी।
राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा की ओर से महुआ थाने से लेकर प्रदेश मुख्यालय तक इस आंदोलन को पहुंचाया गया। रविवार को सरकार ने आंदोलनकारियों की सभी मांगें मान ली। इसके बाद पुजारी शंभू दयाल का अंतिम संस्कार किया गया।
मंदिरों की जमीनों से हटेंगे कब्जे
सचिवालय में चली वार्ता खत्म होने के बाद भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने कहा मांग की,पूरी होने के साथ ही हमारा अंदर और धरना खत्म हो गया है। पोस्टमार्टम के बाद जिस दो बीघा जमीन को भू माफियाओं ने गलत तरीके से बिकवाया था, अब उसी जमीन पर अंतिम संस्कार होगा। पुजारी के बलिदान से प्रदेश स्तर पर मंदिरों और पुजारियों को नई दिशा मिलेगी। प्रदेश में मंदिर माफी की जमीनों से कब्जे हटवाने के लिए राज्य सरकार की ओर से एक कानून बनाया जाएगा।
उस कानून के तहत मंदिर माफी की जमीनों से अवैध कब्जे हटाए जाएंगे।
संभागीय आयुक्त को सौंपी जांच जमीन हड़पने की जांच आईजी को
पुजारी की जमीन हड़पने से लेकर उसकी मौत और पूरे घटनाक्रम की जांच अब संभागीय आयुक्त से करवाने पर सहमति बनी है।
संभागीय आयुक्त 30 अप्रैल तक जांच कर सरकार को रिपोर्ट देंगे। पुजारी की जमीन हड़पने वाले भू माफिया के खिलाफ महुआ थाने में दर्ज मामले की जांच अब आईजी की देखरेख में होगी।
महुआ के टीकरी निवासी मूक बधिर पुजारी शंभू शर्मा के शव को लेकर राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ी लाल मीणा के नेतृत्व में दिया जा रहा धरना 9 दिन बाद समाप्त हुआ।
सरकार और प्रतिनिधि मंडल के बीच बनी सहमति के बाद शव पोस्टमार्टम कराकर जयपुर से महुआ लाया गया।
महुआ में बैंड बाजों के साथ मृतक पुजारी की भव्य शव यात्रा निकाली गई। शव यात्रा के दौरान सैकड़ों लोगों के साथ राज्यसभा सांसद बाईपास से पैदल ही रवाना हुए।
शव यात्रा महुआ के मुख्य बाजार होते हुए निकली गई, जहां शव यात्रा पर कस्बे में कई जगहों पर पुष्प वर्षा की गई।
इसके बाद पुजारी के शव का उनकी हाईवे किनारे भूमि पर अंतिम संस्कार किया गया। पुजारी शंभू शर्मा के पार्थिक देह को उनके भांजे गजानंद शर्मा ने मुख्यग्नि दी।
इस दौरान जयपुर सांसद रामचरण बोहरा, पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा सहित अनेक ब्राह्मण समाज के लोग मौजूद रहे।
इन बातों पर बनी वार्ता में सहमति
1. महुआ थाने में पुजारी की जमीन हड़पने की धरती रिपोर्ट की जांच अब जयपुर आईजी की देखरेख में होगी।
2. पूरे मामले की जांच 30 अप्रैल तक संभागीय आयुक्त से करवाई जाएगी।
3. महुआ के खसरा नम्बर 418/1118 रकबा 0.62 हेक्टेयर में पट्टे बनवा कर 172 दुकानों का निर्माण किया गया है उसकी जांच कर कार्रवाई करने पर सहमति जांच पूरी होने तक इसे सील किया जाएगा।
4. महुआ जा खसरा नम्बर 239/1056 की 0.02 रकबा हेक्टेयर रास्ते की जमीन पर किये जीते अतिक्रमण को 26.8.2020 को एक बार हटा डित गया था,उसका सत्यापन किया जायेगा और पूरा अतिक्रमण हटाया जाएगा।
5. टिकरी गांव में भू-माफिया के कब्जे में गई पुजारी के 2 बीघा जमीन को 145 सीआरपीसी के तहत कुर्क किया जाएगा।
6. नगर पालिका महुआ के तत्कालीन यो की भूमिका की जांच कर उनके खिलाफ कार्यवाही करने पर भी सहमति बनी है।
7. एडीएम दोसा द्वारा कथित दुर्व्यवहार की जांच पर सहमति बनी।
8. 8 अप्रैल को महुआ में पुलिस लाठीचार्ज में घायल में जगदीश सैनी की मौत की जांच भी होगी। *9.मंदिर माफी की जमीनों के संरक्षण और उनके ऊपर हुए अवैध कब्जों को हटाने के लिए राज्य सरकार की ओर से कानून बनाया जाएगा।*

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ