कोरोना मरीज से बैड दिलाने के नाम पर 1 लाख 18 हजार की ली रिश्वत

कोरोना मरीज से बैड दिलाने के नाम पर 1 लाख 18 हजार की ली रिश्वत

                       रिश्वत खोर अशोक कुमार 


एसीबी नेे मेट्रो मास अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ को 23 हजार रुपए लेते हुए किया ट्रेप

 RHUS के दो डॉक्टर की भूमिका भी संदेह के घेरे में


जयपुर,8 मई । जयपुर में शनिवार को फिर एक बार कोरोना महामारी का निजी फायदा उठाने वालों पर एसीबी ने कठोरता से बडी कार्रवाई को अंजाम दिया है।

ACB DG बी एल सोनी के निर्देश पर कोरोना संकटकाल में मरीजों से चांदी कूटने वाले रडार में है।
एसीबी डीजी बी एल सोनी ने बताया कि ट्रेप की पूरी कार्यवाही एसीबी टीम ने asp बजरंग सिंह के नेतृत्व मे अस्पताल पर कार्रवाई की गई है।
उन्होंने बताया कि एसीबी ने कोविड अस्पताल RUHS अस्पताल में बेड दिलवाने के नाम पर रिश्वत का खेल पकड़ा है।
एसीबी की ओर से मेट्रो मास अस्प्ताल के नर्सिंग स्टाफ अशोक कुमार को रिश्वत लेते हुए ट्रेप किया गया है।
मामले के तहत अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ ने मरीज से कोविड अस्पताल Ruhs में आई सी यू बैड दिलाने के नाम पर बड़ी रिश्वत ली है।
एसीबी डीजी बी एल सोनी ने बताया कि एसीबी ने रिश्वत के तहत स्टाफ को मरीज से 23 हजार रुपए की रिश्वत लेते ट्रेप किया है। इससे पूर्व  स्टाफ 95 हजार रुपए पहले ले चुका था रिश्वत।
सोनी ने बताया कि गिरफ्तार किए नर्सिग स्टाफ़ अशोक कुमार ने पूछताछ में कोरोना के नाम पर अस्पताल की ओर से खेले जा रहे बड़े करोबार का खुलासा किया है।
इस खुलासे में कोविड अस्पताल RHUS के दो डॉक्टर की भूमिका भी संदेह को घेरे में सामने आई। 

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को