नागौर में आरटीओ की रिश्वत का खेल

 नागौर में आरटीओ की रिश्वत  का खेल


ट्रक वालो से रोड़ पर पैसे ले लिए और जब ट्रक ड्राइवर द्वारा वीडियो का पता चला तो आरटीओ खुद ड्राइवर के पीछे भागते रहे। 


आरटीओ सब इंस्पेक्टर रामनारायण भादू का है मामला, 

सुजानगढ़ से नागौर जाते समय का है मामला,

नागौर शहर से 20Km पहले रोड़ पर वसूली करते हुए


पीड़ित ट्रक ड्राइवर है बाड़मेर निवासी देवेंद्र 

आरटीओ कर्मचारियों को जब पता लगा कि ड्राईवर हमारा वीडियो बना चुका है रिश्वत लेते हुए, तो उन्होंने आगे आकर गाड़ी ट्रक के आगे लगा दी और फिर दोबारा कागज मांगे जब ड्राइवर ने कागज दे दिए तो आरटीओ खुद गाड़ी से नीचे उतर कर युवक ड्राइवर का मोबाइल छीनने के लिए पीछे भागे लेकिन ड्राइवर ने हिम्मत दिखाते हुए अपनी ट्रक छोड़कर खेत में भाग गया लेकिन 8-10 आरटीओ कर्मचारियों ने ट्रक ड्राइवर का पीछा किया और आखिर में उसे पकड़ कर उसे पीटा, मारा, बंधक बनाकर उसका वीडियो मोबाइल से डिलीट कर दिया लेकिन लेकिन युवक फेसबुक पर भी लाइव था तो वहां से फेसबुक से वापस रीसाइकिल बीन में युवक ने उस वीडियो को एक्सपर्ट से वापस डाउनलोड कर लिया जिससे काली करतूत आरटीओ की रिश्वत लेते हुए सामने आ गई यह वीडियो नागौर रोड का  है।



*फिर मामले को रफा दफा करने के लिए  सब इंस्पेक्टर राम नारायण भादू ने बात की, जिसकी ऑडियो वायरल  हैं।*

ऑडियो में भी सब इंस्पेक्टर भादू ट्रक ड्राइवर से मोबाइल लेकर वीडियो डिलीट करना स्वीकार कर रहा है और पैसे लेना भी स्वीकार कर रहा है। मामले की सत्यता जांच का विषय है ताकि अपराधियों पर शिकंजा कसा जा सके। 

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ