पति-पत्नी और वो का खौफनाक अन्त

पति-पत्नीऔर वो का खौफनाक अन्त 

डॉक्टर की प्रेमिका के भाई ने दिया घटना को अंजाम 

भरतपुर। राजस्थान के भरतपुर शहर स्थित श्री राम हॉस्पिटल के डॉक्टर दम्पति को गलबलिया ट्रेडर्स के समीप हुंडई क्रेटा कार में  बदमाशों ने दिन दहाड़े मारी गोली। दोनों की घटनास्थल पर ही मौत। पुलिस ने शवों को आरबीएम अस्पताल की मोर्चरी में भेज दिया है । भरतपुर आईजी प्रसन्न कुमार खमेसरा ने  प्रेस वार्ता कर घटना की जानकारी दी।उन्होंने कहा कि चिकित्सक दंपत्ति के मर्डर के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आरोपियों को चिन्हित कर लिया गया है।एक आरोपी मृतक लड़की दीपा गुर्जर का  भाई बताया जा रहा है। तो वही दूसरा भी धौलपुर का रहने वाला  बदमाश है। 2 वर्ष पूर्व भरतपुर के सूर्या सिटी में एक मकान में चिकित्सक दंपत्ति द्वारा एक महिला और उसके बच्चे को जलाकर मार दिया गया था। 


चिकित्सक डॉ सुधीर गुप्ता के मृतक महिला दीपा गुर्जर के साथ थे संबंध

जिसके बाद लाक्षागृह बनाकर  मां बेटों को मारा गया था 

दोनों पति-पत्नी चिकित्सक दंपत्ति को जेल हो गई थी। 

ज्ञात हो कि दो वर्ष पहले भरतपुर की पॉश कॉलोनी सूर्या सिटी में 7 नवम्बर 2019 गुरुवार शाम महिला डॉक्टर ने डॉक्टर पति की प्रेमिका के घर आग लगा दी और बाहर से कुंडी बंद कर दी। दम घुटने से युवती और उसके 6 साल के बच्चे की मौत हो गई। बचाने के प्रयास में भाई भी झुलस गया। युवती डॉक्टर दंपती की क्लीनिक पर काम किया करती थी। पति से अफेयर की खबर लगने पर महिला डॉक्टर ने उसे निकाल दिया था। बावजूद, डॉक्टर और युवती का मिलना-जुलना जारी था। डॉक्टर ने उसे रहने के लिए मकान भी दे रखा था।

 



महिला डॉक्टर साथ लाई थी स्प्रिट

गुरुवार शाम 4 बजे महिला डॉक्टर सीमा गुप्ता, सास सुलेखा के साथ डॉक्टर पति सुदीप गुप्ता की प्रेमिका दीपा गुर्जर को डराने-धमकाने के लिए पहुंची। दोनों के बीच कहासुनी चल ही रही थी कि अचानक उग्र हुई महिला डॉक्टर ने अपने साथ लाई स्प्रिट की बोतल को फर्नीचर पर उड़ेलकर आग लगा दी और घर के बाहर से कुंडी लगा दी। इस बीच आग इतनी भयानक हो गई कि कोई भी घर में घुसने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। मौके पर पहुंचे दीपा के भाई अनुज (21) ने घर में घुसने का प्रयास किया, लेकिन वह भी झुलस गया। दम घुटने से 25 वर्षीय दीपा गुर्जर और उनके 6 वर्षीय बेटे की मौत हो गई।

 



महिला डॉक्टर, सास और पति हिरासत में

दमकल की गाड़ियां करीब आधा घंटे में आग बुझा पाईं। वारदात का पता लगने के बाद राजकीय आरबीएम अस्पताल में फिजीशियन डॉ. सुदीप गुप्ता के अलावा एसपी हैदर अली जैदी, सीओ सिटी हवा सिंह रायपुरिया भी मौके पर पहुंचे। देर रात तक मामले को लेकर पीड़ित पक्ष की ओर से कोई भी मामला दर्ज नहीं कराया गया था। पुलिस ने डॉ. सुदीप, उनकी पत्नी डॉ. सीमा व मां सुलेखा को हिरासत में लिया है। डॉ. सुदीप का शहर में काली बगीची इलाके में श्रीराम अस्पताल है।

 



सीमा के क्लीनिक पर काम करती थी दीपा

दीपा करीब 2 साल पहले डॉक्टर सीमा गुप्ता के काली की बगीची स्थित श्रीराम अस्पताल में ही स्वागत कक्ष पर काम करती थी। इसी दौरान उसकी जान-पहचान डॉ. सुदीप से हुई। दोनों के प्रेम-प्रसंग का पता सीमा को चला तो उन्होंने दीपा को नौकरी से निकाल दिया था, लेकिन डॉक्टर सुदीप और दीपा का मेल-मिलाप जारी रहा।

 सुदीप ने दीपा को रहने के लिए दे रखा था मकान

डॉ. सुदीप और दीपा के रिश्ते से डॉ. सीमा नाराज थीं। इसके बावजूद डॉ. सुदीप ने उसे 4 साल पहले खरीदे गए विला रहने के लिए दिया हुआ था। सूर्या सिटी कॉलोनी में स्थित यह मकान डॉ. सुदीप की पत्नी डॉ. सीमा गुप्ता के नाम पर है, जो उसने करीब 4 साल पहले खरीदा था। सुदीप ने दीपा गुर्जर को इसी मकान में अवैध रूप से रखा हुआ था।

 1 नवंबर को ही दीपा ने खोला था स्पा सेंटर

छह दिन पहले यानी 1 नवंबर को ही दीपा ने इस मकान में आयशा सैलून एंड स्पा सेंटर खोला था। इसके निमंत्रण-पत्रों में भी डॉक्टर सुदीप का नाम था। यह बात जब उनकी पत्नी सीमा गुप्ता को पता चली तो वह आवेश में आकर अपनी सास सुलेखा को लेकर काली बगीची स्थित अपने घर से दीपा गुर्जर से लड़ने के लिए उसके निवास पर पहुंच गई।


Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ