प्रतीक झाझडिया श्रम आयुक्त 3 लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथो गिरफ्तार।

एसीबी  का बड़ा धमाका 

प्रतीक झाझडिया श्रम आयुक्त 3 लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथो गिरफ्तार।



जयपुर, 25 जून  । भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो, मुख्यालय के निर्देश पर एसीबी जयपुर की  स्पेशल इकाई , द्वितीय द्वारा श्रम आयुक्त   प्रतीक झाझडिया को राज्य के अन्य श्रम कल्याण अधिकारियों से एकत्रित की गई 3 लाख  रुपए की रिश्वत राशि प्राप्त करने  के आरोप में गिरफ्तार किया गया। 


भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक,  भगवान लाल सोनी ने बताया कि एसीबी की जयपुर  इकाई  को सूत्रो से शिकायत दी गई थी की प्राइवेट व्यक्ति  अमित शर्मा तथा  रवि मीणा, विशेषअधिकारी, आर्थिक सलाहकार परिषद, राजस्थान के माध्यम से  प्रदीप झाझडीया, श्रम आयुक्त जो कि भारतीय डाक सेवा से राजस्थान में प्रतिनियुक्ति पर हैं को राज्य के अन्य श्रम कल्याण अधिकारियों के माध्यम से   रिश्वत  राशि प्राप्त करना,  भारी भ्रष्टाचार व अवैध लेनदेन किया जा  रहा था ।

जिस पर एसीबी  के अतिरिक्त महानिदेशक  दिनेश एमएन के निर्देशन में  जयपुर इकाई, द्वितीय के उप पुलिस अधीक्षक  मांगीलाल  के नेतृत्व में जयपुर एवं अन्य ब्यूरो के दलों का गठन किया गया शिकायत का सत्यापन किया जा कर उनकी टीम द्वारा ट्रैप कार्रवाई करते हुए आरोपी को ₹300000 रिश्वत राशि प्राप्त करते हुए गिरफ्तार किया गया। 

एसीबी के अतिरिक्त महानिदेशक  दिनेश एमएन के निर्देशन में आरोपियों के निवास एवं अन्य ठिकानों की तलाशी जारी है। एसीबी द्वारा मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जाएगा।

एसीबी महानिदेशक  भगवान लाल सोनी ने समस्त प्रदेश वासियों से अपील की है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 10 64 एवं व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर 94135 02834 पर 24×7 संपर्क कर भ्रष्टाचार के विरुद्ध अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। एसीबी आपके वैध कार्य को करवाने में पूरी मदद करेगी। विदित रहे कि एसीबी राजस्थान राज्य में राज्य कर्मियों के साथ-साथ केंद्र सरकार के कर्मियों के विरुद्ध भी कार्रवाई करने को अधिकृत है।

Comments

Popular posts from this blog

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ