WSSO में होता है मीडिया मैनेजमेंट और एनजीओ का खेल

 

जलदाय विभाग में पावर गेम  

WSSO डायरेक्टर की लड़ाई में  आईएएस भाई अमिताभ पर भारी आईएएस दोस्त 

WSSO में होता है मीडिया मैनेजमेंट और एनजीओ का खेल

 “रुपया थारी तीखी धार मरगा मुंशी थानेदार” इस राजस्थानी कहावत का राज्य के सरकारी विभागों में बोलबाला है।
खैर छोड़िए…. आप तो पढ़िए पावर और वाटर की कहानी… कैसे एक आईएएस भाई पर आईएएस का कथित दोस्त भारी पड़ गया। कोरोना की बीमारी में जिंदगी से जूझते कैसे एक एडिशनल चीफ इंजीनियर अमिताभ शर्मा से पद छीन कर विवादित व वित्तीय अनियमितताओं की चार्जशीट झेल चुके अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल को दो पदों से नवाज दिया। बेनीवाल को पिछली सरकार ने सस्पेंड भी कर दिया था और चार्जशीट भी दी गई। लेकिन सरकार बदलते ही सब कुछ माफ हो गया। एसीबी ने एक मामले में परिवाद दर्ज किया था, लेकिन अब वह मामला भी फ़ाईल में गुम हो गया।
जल जीवन मिशन में लोगों को जागरूक करने और मीडिया में विज्ञापन देने के लिए यहां पर सैकड़ों करोड़ों का काम है। बीते साल कोरोनाकाल से पहले WSSO का डायरेक्टर अमिताभ शर्मा को लगाया। अमिताभ शर्मा मुख्यमंत्री से सचिव रहे  अजिताभ शर्मा के भाई है। WSSO में शांतिपूर्ण तरीके से काम चल रहा था, लेकिन विभाग में एसीएस सुधांश पंत की पोस्टिंग होने के साथ ही समीकरण बदल गए। एसीएस सुधांश पंत की सीई संदीप शर्मा व अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल नजदीकी बढ़ गई। इसके बाद WSSO का पावर लेने की प्लानिंग होने लगी।
WSSO के डायरेक्टर व एसीई अमिताभ शर्मा को अप्रेल के अंतिम सप्ताह में कोरोना हो गया था। विभाग के उप सचिव राजेंद्र शेखर मक्कड़ ने 29 अप्रेल को आदेश जारी कर WSSO के डायरेक्टर का अतिरिक्त चार्ज अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल को दे दिया। जबकि हैडक्वार्टर में कई एसीई बिना काम के बैठे है। स्वास्थ्य लाभ के बाद एसीई अमिताभ शर्मा काम पर लौट आए, लेकिन उन्हे WSSO के डायरेक्टर पर जॉइंन करवाने से इंकार कर दिया। मुख्यमंत्री के सचिव रहे और वरिष्ठ आईएएस अजिताभ शर्मा के भाई अमिताभ शर्मा को WSSO के डायरेक्टर पद पर जॉइंन नहीं करने देना बड़ा ही आश्चर्यजनक है।
जलदाय विभाग में एसीएस सुधांश पंत की छवि साफ सुथरी मानी जाती है, लेकिन विभाग के उप सचिव राजेंद्र शेखर मक्कड़ ने 27 मई को आदेश जारी कर WSSO के डायरेक्टर का अतिरिक्त चार्ज अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल को देने का दुबारा आदेश निकाल दिया।
मीडिया की नजर में WSSO का हर घोटाला माफ:
जलदाय विभाग के WSSO में मीडिया मैनेजमेंट और एनजीओ को काम देने का खेल होता है। जनता व नेताओं की नजरों से दूर इस संस्था में करोड़ों रुपए के काम बिना टेंडर या गुप्त टेंडर के बांट दिया जाता है। ब्यूरोक्रेसी के एक वर्ग की इस WSSO पर लंबे समय से नजर है। इस पोस्टिंग पर मीडिया को सेट करने की जिम्मेदारी होती है। विज्ञापन देने के एवज में विभाग के खिलाफ खबरे रोकने का ठेका भी होता है। यहां लगने वाला अफसर कितनी भी गड़बड़ करे, लेकिन घोटाले के हजार खून माफ है।
पिछले कार्यकाल में यहां पीएचइडी के प्रमुख सचिव आईएएस संदीप वर्मा के खास अधीक्षण अभियंता अरूण श्रीवास्तव को पोस्टिगं व अतिरिक्त काम दिया गया था। आईएएस वर्मा के हटते ही यहां पर आईएएस अजिताभ शर्मा के भाई एसई अमिताभ शर्मा की पोस्टिंग हो गई।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ