राजस्‍थान में प्रतिभाओं की कमी नहीं - तिलोक कोठारी

राजस्‍थान में प्रतिभाओं की कमी नहीं - तिलोक कोठारी  



मुम्बई। हिंदी समेत विभिन्‍न भाषाओं की फिल्‍मों का निर्माण कर चुके निर्माता तिलोक कोठारी इन दिनों राजस्‍थानी प्रतिभाओं को तराशने का काम करने में लगे हैं। इसके लिए  वे ओटीटी प्लेटफॉर्म लेकर आ रहे हैं, जिसमें राजस्‍थान के कलाकारों को प्राथमिकता मिलेगी। इसको लेकर त्रिलोक कोठारी ने बताया कि राजस्‍थान में कला की अपार संभावनाएं हैं। हम अपने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर उन प्रतिभाशाली युवाओं को मौका देना चाहता हूं, जो मुंबई नहीं जा पा रहे हैं। और जिनको सिनेमा में काम नहीं मिल रहा है। ऐसे में हमने उनकी प्रतिभा को मंच देने के लिए ओटीटी प्लेटफॉर्म 'एनजॉयमैक्स' लेकर आ रहे हैं, जिसमें राजस्‍थानी कलाकारों को प्राथमिकता मिलेगी। अभी इसके एप्‍प पर मुंबई में जोर – शोर से काम चल रहा है।

तिलोक कोठारी, राजस्‍थानी 5 फिल्‍मों को प्रोड्यूस कर चुके हैं। वे खुद भी राजस्‍थान से आते हैं। वे बॉलीवुड से लेकर राजस्‍थानी, पंजाबी और भोजपुरी फिल्‍मों का निर्माण भी कर चुके हैं। लेकिन अब राजस्‍थान के होने की वजह से वे चाहते हैं कि राजस्‍थानी प्रतिभाओं को भी एक मंच मिले। इसलिए वे अक्‍टूबर में  शालीमार प्रोडक्शंस के तहत  ओटीटी प्लेटफॉर्म 'एनजॉयमैक्स' को लांच कर रहे हैं। इसको लेकर उन्‍होंने कहा कि अभी इसके एप पर काम चल रहा है, तब तक हम अन्‍य फिल्‍मों की कहानियों पर काम कर रहे हैं। उन्‍होंने दावा किया कि उनका यह प्‍लेटफॉर्म दर्शकों का खूब मनोरंजन करेगी।

बता दें कि भारत वर्तमान में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाला ओटीटी बाजार है। ओटीटी के माध्यम से वीडियो ऑन डिमांड के पारंपरिक प्लेटफॉर्म जैसे रेडियो, केबल, सिनेमा और थिएटर की जगह लेने की उम्मीद है। शालीमार विभिन्न प्रकार के परिवार के अनुकूल मुख्यधारा और क्षेत्रीय मीडिया सामग्री को सीधे उपभोक्ताओं तक पहुंचाना चाहता है। 'एनजॉयमैक्स' के लिए एक वेब-ब्राउज़र आधारित प्लेटफ़ॉर्म का विकास भी चल रहा है ।



Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को