बलूटूथ डिवाइस लगी चप्पल 6 लाख में बेची

बलूटूथ डिवाइस लगी चप्पल 6 लाख में बेची 


रीट में नकल करते 4 गिरफ्तार 



बीकानेर । ब्लूटूथ डिवाइस लगी हुई चप्पल से नकल करते हुए पकड़ा, 6 लाख रुपए लेकर बेची एक चप्पल, 4 युवक गिरफ्तार राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा के साथ नकल का गिरोह भी सक्रिय हो गया है। रविवार को जैसे ही परीक्षा शुरू हुई, राज्य में विभिन्न अभियानों में नकलची गिरफ्तार किए गए। सबसे अनोखा मामला बीकानेर में सामने आया। जहां उम्मीदवारों को ब्लूटूथ डिवाइस से लैस चप्पलें देने वाले 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 


 यह कार्रवाई बीकानेर के गंगाशहर में की गई है। आरोपित चप्पल में उपकरण डालकर अभ्यर्थियों की नकल कराने में लगे थे। शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपियों ने करीब छह लाख रुपये में उम्मीदवारों को डिवाइस में लगी चप्पलें बेची थीं।


पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने बताया कि चार युवकों को गिरफ्तार किया गया है. ये लोग चप्पल में डिवाइस डालकर सेंटर पर नकल कराने की कोशिश कर रहे थे। 


इनके पास से कई महत्वपूर्ण वस्तुएँ भी मिली हैं, जो नकल कराने में काम आते हैं। यह कार्रवाई गंगाशहर पुलिस और डीएसटी की टीम ने संयुक्त रूप से की है।

यूं होता था नकल का सौदा
पुलिस गिरफ्त में आये नकल गिरोह के सदस्यों ने पुलिस पूछताछ में काफी चौकाने वाले खुलासे किए है।
आरोपी मदनलाल पुरानी शिव बाड़ी रोड़ बीकानेर में स्थित चाणक्य कोचिंग संस्था के संचालक व परीक्षाओ में नकल कराने वाले मास्टरमाइंड तुलसाराम कालेर के साथ उसके घर मे ही रहकर नकल गिरोह को संचालन करने की जानकारियां तुलसाराम से हासिल कर रहा था । इस नकल गिरोह का एक सक्रिय सदस्य त्रिलोकचंद परीक्षार्थियों को चििन्हित करता व नकल गिरोह सरगना तुलसाराम कालेर से अभ्यर्थी की मीटिंग करवाता उसके बाद बड़ी रकम में पेपर का सौदा तय करते व पेपर से दो दिन पहले चिन्हित अभ्यर्थीयो को एक गुप्त स्थान पर बुलाता व अपने गैंग के सदस्यो द्वारा पेपर हल करने का तरीके के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दिलवाता । डिवाईस का उपयोग किस तरह से करना है सब तरीके विस्तार से अभ्यर्थियों को बताते । आरोपी तुलसाराम कालेर, मदनलाल व त्रिलोकचंद ने 25 अभ्यार्थीयो से पेपर करवाने का बड़ी रकम में सौदा तय कर लिया था । ये लोग पेपर हल करवाने की एवज मे 6-7 लाख रूपये लेते व एंडवास में खाली चैक भी लेते थे, और काफी समय से नकल गिरोह का खेल बड़े आराम से चला रहे थे ।

हवाई चपल में ब्ल्यूटूथ डिवाइस से नकल करने की यह थी तैयारी

नकल गिरोह द्वारा हवाई चपल इस तरह से तैयार करवाई जाती थी कि उसके अंदर वाईस कालिंग डिवाईस बैटरी , सिम सोकेट आदि फिट किये जाते थे व एक मक्खीनुमा ब्ल्यूटूथ अभ्यार्थी के कान के अंदर बहुत बारीकी से सेट किया जाता, जिससे परीक्षा सेटर में किसी को भी शक ना हो व ना ही पुलिस की पकड़ में आ सके । बहुत ही शातिर तरीके से डिवाईस युक्त हवाई चपल तैयार कर अभ्यर्थीयों को पहनाई जाकर नकल करवाई जानी थी ।

पुलिस गिरफ्त में आए ये आरोपी
मदनलाल पुत्र भीखाराम जाट निवासी जेगलिया बीदावतान चुरू,त्रिलोकचद पुत्र भंवरलाल ब्राहमण निवासी नोखा,ओमप्रकाश पुत्र बेगाराम जाट निवासी रामपूर चुरू,गोपाल कृष्ण पुत्र रामलाल जाट निवासी जेगलिया बीदावतान चुरू,श्रीमती किरण पत्नी नरेन्द्र कुमार जाट निवासी लोहा रतनगढ जिला चुरू । बीकानेर पुलिस की सूचना पर अन्य जिलो में कालेर गैंग के सदस्यों द्वारा नकल करवाये जाने वाले गिरफ्तार हुए अभ्यर्थीयों में हनूमान बिश्नोई परीक्षा केन्द्र प्रतापगढ़, मालाराम विश्नोई परीक्षा केन्द्र प्रतापगढ़ ,आदूराम परीक्षा केन्द्र नीम का थाना सीकर,गणेशाराम परीक्षा केन्द्र अजमेर ।

कार्यवाही करने वाली टीमः
एडिशनल एसपी शैलेन्द्र सिंह इंदौलिया के निर्देशन में सीओ सदर पवन कुमार भदौरिया व गंगाशहर थानाधिकारी राणीदान उज्ज्वल, डीएसटी टीम प्रभारी सुभाष बिजारणिया, बीछवाल थानाधिकारी मनोज शर्मा  के नेतृत्व में जयसिंह उप निरीक्षक,ईश्वर सिंह सजनि,रामगोपाल सउनि पुलिस थाना गंगाशहर, कानदान सार्दू एचसी,दीपक यादव एचसी डीएसटी टीम,संजय एचसी पुलिस थाना गंगाशहर,वासुदेव कानि,सवाई सिंह, मूलाराम, राकेश, सुभाषचन्द्र, श्रीमती सजूं मकानि व दिलीप सिंह कानि आदि टीम ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ