डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल, 

उदयपुर से गिरफ्तार 


उदयपुर । राजस्थान एसओजी की चाइल्ड पोर्नोग्राफी रोकने वाली टीम ने ब्यावर के सस्पेंड डिप्टी एसपी हीरालाल सैनी को गिरफ्तार कर लिया है. बीते गुरुवार को उदयपुर से डीएसपी को जयपुर एसओजी की टीम ने गिरफ्तार किया है. महिला कॉन्स्टेबल के साथ अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद ब्यावर डीएसपी हीरालाल सैनी सुर्खियों में आए थे. गुरुवार को ही डीएसपी के खिलाफ केस दर्ज किया गया, उसके बाद डीएसपी के उदयपुर में होने की जानकारी पर एसओजी की टीम द्वारा उदयपुर के अनंता रिसोर्ट से उन्हें गिरफ्तार किया है। 


मिली जानकारी के अनुसार एसओजी की चाइल्ड पॉर्नोग्राफी टीम द्वारा इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया है. हीरालाल सैनी को गिरफ्तार करने के बाद सबसे पहले प्रारंभिक पूछताछ के लिए उदयपुर के अंबामाता थाने में लाया गया था. अंबामाता थाने में लाने के बाद कागजी कार्रवाई पूरी करते हुए एसओजी की टीम डीएसपी को लेकर जयपुर के लिए रवाना हुई. गृह विभाग द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए एसओजी को जांच देने का निर्णय लिया था. वायरल वीडियो में एक 6 वर्षीय बच्चा भी नजर आ रहा था, ऐसे में इस पूरे मामले की जांच एसओजी की चाइल्ड पॉर्नोग्राफी टीम द्वारा की जा रही थी और डीएसपी को भी इसी टीम द्वारा गिरफ्तार करने की जानकारी मिल रही है. बता दें कि इससे पहले भी डीएसपी हीरालाल का एक वीडियो पहले भी वायरल हो चुका है। 


स्वीमिंग पूल में अश्लील हरकत का वीडियो
डीएसपी हीरालाल सैनी का एक वीडियो वायरल हुआ, इस वीडियो में एक महिला कॉन्स्टेबल और 6 वर्षीय बच्चा नजर आ रहा था. स्वीमिंग पूल में बनाए गए इस वीडियो के आपत्तिजनक होने के चलते मुख्यालय द्वारा डीएसपी और महिला कॉन्स्टेबल को तुरंत निलंबित कर दिया गया. इसके अलावा महिला कॉन्स्टेबल के पति द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट को भी गंभीरता से नहीं लेने पर थानाधिकारी पर भी कार्रवाई की गई थी. अब मामले की उच्च स्तरीय जांच शुरू कर दी गई है। डीएसपी की गिरफ्तारी को एक बड़ी कार्रवाई के रूप में देखा जा रहा है. माना जा रहा है कि इस केस में कुछ और लोगों की भी गिरफ्तारी की जा सकती है। अजमेर जिले के निवर्तमान ब्यावर वृताधिकारी हीरालाल सैनी और जयपुर कमिश्नरेट में तैनात महिला कांस्टेबल द्वारा बच्चे के सामने अश्लील हरकतें करने के मामले को राजस्थान पुलिस के मुखिया डीजी मोहन लाल लाठर ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा कि घिनौना कृत्य है। इसकी जांच करवाकर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी साथ ही सरकार को भी इसकी रिपोर्ट सौंपी जाएगी। डीजी ने मामले की जांच एसओजी की सौंपी है। 

डीएसपी हीरालाल सैनी और महिला कांस्टेबल को बर्खास्त भी किया जा सकता है। इसकी चर्चाएं भी पुलिस मुख्यालय के साथ ही प्रदेश भर में तेज हो गई है। आमजन भी इस वीडियो को देखने के बाद यही मांग कर रहे हैं।

एसओजी ने देर रात उदयपुर के अनंता रिसॉर्ट से निलंबित डिप्टी हीरालाल सैनी और महिला कांस्टेबल को पकड़ा है। इसकी पुष्टि एडीजी अशोक राठौड़ ने की। उन्होंने कहा कि एसओजी ने मुकदमा दर्ज कर लिया है और मामले में पूछताछ की जा रही है। शाम तक इसका खुलासा कर दिया जाएगा। 

आपको बता दें कि डीएसपी हीरालाल सैनी और महिला कांस्टेबल का बच्चे के सामने अश्लील हरकतें करने के दो वीडियो वायरल हुए। इन वीडियो में स्विमिंग पूल के अंदर बच्चे के सामने शर्मसार करने वाले कृत्य किए। मामले में अगस्त माह में महिला कांस्टेबल के पति ने चितावा थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई थी, जिसे दर्ज नहीं करने को लेकर थानाधिकारी प्रकाश मीणा को लाइन हाजिर किया गया है।

*गुमनाम परिवाद पर मुकदमा दर्ज*

एसओजी की एडिशनल एसपी दिव्या मित्तल ने बताया कि मुख्यालय को गुमनाम परिवाद मिला। जिसमें वीडियो में बच्चे के सामने की गई बेहूदा हरकतों के संबंध में कार्रवाई करने की मांग की गई। जिस पर हीरालाल सैनी और महिला कांस्टेबल के खिलाफ पोक्सो एक्ट की धारा 11,12,13 और 14 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। टीम बनाकर मामले की जांच की जा रही है। 

*जयपुर से संपर्क में आई थी महिला कांस्टेबल*

निलंबित डीएसपी हीरालाल सैनी जयपुर कमिश्नरेट और जयपुर ग्रामीण में थानाधिकारी के रूप में पदस्थापित रहा है।  उसी दौरान महिला कांस्टेबल उसके संपर्क में आई। इसके बाद वह अजमेर में जीआरपी थानाधिकारी के पद पर रहा और इसी पद पर रहते हुए प्रमोट होकर आरपीएस बन गया। पहली पोस्टिंग भी सैनी ने ब्यावर ली। पिछले तीन साल से वह ब्यावर में ही तैनात है। इस दौरान उनका तबादला भी हुआ जिसे सीएमओ के हस्तक्षेप से रुकवा दिया।

*रंगीन मिजाज है डिप्टी साब*

सूत्रों की मानें तो हीरालाल सैनी शुरू से रंगीन मिजाज रहे हैं। कई महिला मित्रों से उनकी नजदीकियां है और इस तरह से वीडियो बनवाना भी उनके शौक में शामिल रहा है। राजनीतिक रूप से पकड़ और सीएमओ में सीधे प्रवेश के चलते महिलाओं के तबादले या अन्य काम करवाकर वह नजदीकियां बढ़ा लेते थे। 

*सीएमओ में है पकड़*

निलंबित डीएसपी हीरालाल सैनी की सीएमओ में अच्छी पकड़ बताते हैं। वह सीएमओ में पदस्थापित एक अधिकारी को अपना रिश्तेदार बताता है और पुलिस के तबादलों में भी खासा हस्तक्षेप रहता था। 


Comments

Popular posts from this blog

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

जानिए छिपकली से जुड़े शगुन-अपशगुन को