डॉक्टर ने बतायी ट्रिक तुरंत आ जाएगी नींद!

डॉक्टर ने बतायी ट्रिक तुरंत आ जाएगी नींद! 

बेहद आसान है करने का तरीका

डॉक्टर ने बतायी '10-3-2-1' ट्रिक जिससे तुरंत आ जाएगी रात में नींद! बेहद आसान है करने का तरीका
दुनिया में ऐसे बहुत से लोग हैं जिनकी ये शिकायत रहती है कि उन्हें ठीक से नींद नहीं आती. कुछ लोग तो यहां तक कहते हैं कि वो समय से लेटते हैं मगर तुरंत नींद ना आने के चलते वो परेशान हो जाते हैं. नींद से जुड़ी बीमारियां भी होती हैं जिसमें नींद ना आने के चलते मरीज की हालत खराब हो जाती है. अगर आपको भी नींद ना आने की समस्या है तो आपको इस डॉक्टर की बात जरूर सुननी चाहिए जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल होता है।

डॉ. करन राज सोशल मीडिया साइट्स पर अपने इन्फॉर्मेशन देने वाले वीडियोज के लिए काफी फेमस हैं. हेल्थ से जुड़े उनके वीडियो खूब पॉपुलर होते हैं. इंस्टाग्राम पर उन्हें लाखों लोग फॉलो करते हैं. इन दिनों सोशल मीडिया पर उनकी ’10-3-2-1′ नाम की ट्रिक काफी पॉपुलर हो रही है. इस ट्रिक के जरिए करन का कहना है कि किसी को भी रात में आसानी से नींद आ सकती है। करन ने ट्रिक के बारे में एक्सप्लेन करने हुए बताया, ’10-3-2-1′ का अर्थ है कि सोने से 10 घंटे पहले कैफीन नहीं लेना है. कॉफी में कैफीन होता है. 10 घंटे के ब्रेक के जरिए आपके ब्लड में पहले से मौजूद कैफीन भी खत्म हो जाएगा. इससे आपको रात में अच्छी नींद आएगी।

सोने से 3 घंटे पहले भारी खाना खाने से बचें इससे हार्टबर्न की समस्या नहीं होगी और आपकी नींद पर भी कोई असर नहीं पड़ेगा. यही नहीं, अल्कोहल को भी 3 घंटे पहले लेने से बचना है. सोने के 2 घंटे पहले कोई काम ना करें. इससे आपका दिमाग रिलैक्स हो जाएगा। सोने से 1 घंटे पहले किसी भी तरह की स्क्रीन को नहीं देखना है यानी टीवी, मोबाइल और लैपटॉप से दूरी बना लेनी है। रात में देर तक जग कर ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर फिल्में तो बिल्कुल भी नहीं देखनी हैं। करन का कहना है कि ब्लू लाइट से मेलाटोनिन प्रोड्यूस होता है जिससे नींद आने में देर लगती है. इंस्टाग्राम पर ही नहीं, टिकटॉक पर भी डॉ राज के वीडियो बेहद पॉपुलर हैं. उनका अपना यूट्यूब चैनल भी है जिसमें वो ऐसे ही वीडियोज शेयर करते हैं।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ