नौकरानी गैंग ने की 50 लाख की लूट

नौकरानी गैंग ने की 50 लाख की लूट 


दूसरे नौकरों को किया बेहोश 

 महिला और दो युवकों संग नकदी -गोल्ड चुराया


साबुन व्यापारी के घर में दिया घटना को अंजाम 

 जयपुर। राजधानी में नौकरानी ने साबुन व्यापारी के घर से कैश और गहने मिलाकर 50 लाख रुपए की चोरी कर ली। आरोपी महिला का नाम संगीता थापा है। चोरी करने वालों के गैंग में गंगा नाम की एक और महिला व 2 युवक भी शामिल थे। गंगा से एक महीने पहले ही व्यापारी के यहां से काम छोड़ा था। पुलिस के मुताबिक संगीता ने पहले दो घरेलू नौकरों को नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोश किया। फिर करीब 50 लाख रुपए की नकदी और गोल्ड ज्वेलरी चुराए। वारदात आदर्श नगर इलाके में फ्रंटियर कॉलोनी की है और घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गई।


नौकरानियों को दिल्ली की एक एजेंसी के जरिए रखा गया था। आदर्श नगर पुलिस उस एजेंसी से संपर्क कर आरोपियों का रिकॉर्ड भी खंगाल रही है। बेहोश हुए दोनों घरेलू नौकरों को 15 घंटे बाद भी होश नहीं आया है। उनको एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

 *सबसे पुरानी नौकरानी के भरोसे छोड़कर गए थे घर* 


*एडिशनल डीसीपी (पूर्व) आईपीएस राजर्षि वर्मा ने बताया कि प्लॉट नंबर 114 में रहने वाले वीरेंद्र जैन अपने भाइयों के साथ ओसवाल साबुन का व्यवसाय करते हैं।* वे अपने परिवार के साथ बुधवार को लुधियाना में रिश्तेदारी की शादी में शामिल होने के लिए रवाना हुए थे। वे अपने घर को पिछले कई सालों से घरेलू नौकरानी कांता (45), 28 वर्षीया संगीता थापा और 22 वर्षीय एक घरेलू नौकर के भरोसे छोड़कर गए थे।

गुरुवार को दूध देने वाला वीरेंद्र जैन के घर पहुंचा तब आवाज देने पर कोई बाहर नहीं आया। इस पर आस-पड़ोस की मदद से अंदर जाकर देखा तो ग्राउंड फ्लोर पर दरवाजे खुले पड़े थे। अंदर घरेलू नौकरानी कांता और नौकर बेहोश पड़े थे। नौकरानी संगीता थापा गायब थी। वहां एक कमरे में सामान बिखरा पड़ा था। यह देखकर पड़ोसियों ने वीरेंद्र जैन के परिजनों और आदर्श नगर थाने में सूचना दी। तब पुलिस मौके पर पहुंची। पड़ताल शुरू कर वीरेंद्र जैन को फोन कर सूचना दी।

*रात 10:30 बजे पुरानी नौकरानी गंगा ने गैंग के साथ मिलकर की वारदात* 

सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर सामने आया कि बुधवार रात को 10:30 बजे एक महिला और दो युवक घर में दरवाजा खोलकर घुसे थे। इसके करीब एक घंटे बाद घर से दोनों युवक और दो महिलाएं कंधे पर बैग लटकाकर दबे पांव घर से भागते हुए नजर आए।

फुटेज की पड़ताल में सामने आया कि वारदात को वीरेंद्र जैन के यहां पहले घरेलू कामकाज करने वाली गंगा और अभी काम कर रही संगीता ने अंजाम दिया है। वह नेपाल की रहने वाली हैं। गंगा ने कुछ दिन पहले ही अपनी जगह संगीता को कामकाज के लिए रखवाया था।

 *प्लानिंग के अनुसार जॉब छोड़ा और अपनी जगह दूसरी नौकरानी को रखवाया* 

पुलिस का मानना है कि वीरेंद्र जैन के यहां पहले वाली नौकरानी गंगा ने जानबूझकर अपनी जगह संगीता को रखवाया था। संभवत: गंगा और संगीता को पूरी जानकारी थी कि वीरेंद्र जैन और उनका परिवार 13 अक्टूबर को जयपुर से लुधियाना के लिए रवाना होंगे। इसलिए उन्होंने इसी रात को वारदात के लिए चुना। बदमाशों ने ग्राउंड फ्लोर पर वीरेंद्र जैन और पहली मंजिल पर उनके बेटे के कमरे को ही निशाना बनाया।

वहां तिजोरी और अलमारियों के ताले तोड़कर सामान खंगाला। करीब 15 से 20 लाख रुपए नकद और बाकी गोल्ड ज्वेलरी को चुराकर बैग में डाल लिया। उन्होंने चांदी के आइटम को हाथ नहीं लगाया। बदमाशों ने सिर्फ दो ही कमरों के लॉक तोड़े। इसके अलावा किसी सामान को हाथ नहीं लगाया। इससे पुलिस का मानना है कि बदमाशों को पहले से पता था कि ज्वेलरी और कैश कहां रखा है।

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

एसओजी ने महिला पुलिसकर्मी को कालवाड़ में मौसा के घर से दबोचा,

डीएसपी हीरालाल सैनी मामले में चार पुलिस अधिकारी नपे