जेएलएफ 15वें संस्करण के लेखकों की दूसरी सूची का ऐलान

जेएलएफ 15वें संस्करण के लेखकों की सूची का ऐलान 


                           मुख्य आकर्षण

वक्ताओं की दूसरी सूची की घोषणा: 25 लेखकों से सजी दूसरी सूची का ऐलान – 2022 संस्करण में हिस्सा लेने वाले 180 वक्ताओं में से फेस्टिवल ने 25 नामों की घोषणा की| दूसरी लिस्ट में शामिल हैं: अखिल कात्याल, एंड्रू लॉनी, अनिंदिता घोष, डेविड मिशेल, डेविड वेनग्रो, एलिफ शफाक, जयराम रमेश, के. सच्चिदानंदन, के मिलर, महफूज़ अनम, मनु एस. पिल्लई, माया जेसनोफ, मोनिका अली, नंदना देव सेन, नौशाद डी. फ़ोर्ब्स, रितु मेनन, रोबर्ट मैकफर्लें, रुपर्ट एवेरेट, रुथ पेडल, सैकत मजुमदार, शेहान करुणातिलक, सोनाली बेंद्रे, तनुज सोलंकी, विद्या दहेजिया और विनोद कापरी| 

जयपुर, 25 नवंबर। वार्षिक जयपुर फेस्टिवल ने अपने बहुप्रतीक्षित 15वें संस्करण के वक्ताओं की दूसरी लिस्ट की घोषणा कर दी है, जो 28 जनवरी से 1 फरवरी 2022 तक जयपुर में आयोजित हो रहा है| लिस्ट दर्शाती है कि फेस्टिवल एक बार फिर से विचारों का ग्रैंड मैराथन बनने जा रहा है, जहाँ विविध क्षेत्रों और संस्कृतियों के आदर्शवादी, यथार्थवादी, दूरदर्शी, बौद्धिक और कलम-सेवी हिस्सा लेंगे| 

दूसरी लिस्ट के 25 लेखकों में शामिल हैं, भारतीय कवि, समलैंगिक अधिकारों के कार्यकर्त्ता और ब्लड ऑन द बिटन टंग: देल्ही पोयम्स और हाउ मेनी कंट्रीज डज द इंडस क्रोस के लेखक अखिल कात्याल; ब्रिटिश जीवनीकार, लिटरेरी एजेंट और कई महान हस्तियों के जीवन पर किताब लिखने वाले एंड्रू लॉनी; मुंबई में रहने वाली लेखिका और पत्रकार अनिंदिता घोष; ब्रिटिश पुरातत्वविद और न्यू यॉर्क टाइम्स बेस्टसेलर द डान ऑफ़ एव्रीथिंग: ए न्यू हिस्ट्री ऑफ़ ह्यूमैनिटी के लेखक (स्वर्गीय मानव-विज्ञानी डेविड ग्रेबर के साथ सह-लेखन) डेविड वेनग्रो; पुरस्कृत ब्रिटिश-तुर्की उपन्यासकार और तुर्की में सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली लेखिका एलिफ शफाक; राज्य सभा सदस्य, भूतपूर्व केन्द्रीय मंत्री और अनेकों कामयाब किताबों के लेखक, जयराम रमेश; साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता, जाने-माने कवि, लेखक, आलोचक, नाटककार और संपादक, के. सच्चीदानंदन, जिन्होंने अंग्रेजी और मलयालम में खूब लिखा है; PEN ओपन बुक अवार्ड में नामांकित होने वाले जमैका के कवि, लेखक और निबंधकार के मिलर|  

सूची में शामिल हैं बंगलादेशी पत्रकार महफूज़ अनम; प्रशंसित इतिहासकार और हालिया प्रकाशित किताब फाल्स एलाइस: इंडिया’स महाराजा इन द ऐज ऑफ़ रवि वर्मा के लेखक मनु एस. पिल्लई; अमेरिकी अकादमिक और पुरस्कृत किताबों एज ऑफ़ एम्पायर, लिबर्टी’स एग्जाइल की लेखिका माया जेसनोफ; ब्रिटिश लेखिका मोनिका अली, जिनकी किताब ब्रिक लेन को बुकर प्राइज का नामांकन प्राप्त हुआ; अदाकारा, बाल-अधिकारों की समर्थक और अनेकों किताबों की लेखिका नंदना देव सेन; फ़ोर्ब्स मार्शल के को-चेयरमैन, इंजीनियर, बिजनेसमैन और द स्ट्रगल एंड द प्रॉमिसेस के लेखक नौशाद डी. फ़ोर्ब्स; फेमिनिस्ट, प्रकाशक और हालिया प्रकाशित किताब ज़ोहरा! ए बायोग्राफी इन फोर एक्ट की लेखिका रितु मेनन; कामयाब और पुरस्कृत किताबों अंडरलैंड, द ओल्ड वेज़, लैंडमार्क और द लॉस्ट वर्ड्स: ए स्पेल बुक के लेखक रोबर्ट मैकफार्लें|  

लिस्ट को और रोचक बनाने के लिए शामिल हैं जाने माने हॉलीवुड अदाकार, डायरेक्टर और लेखक रुपर्ट एवेरेट; पुरस्कृत ब्रिटिश कवयित्री, 12 काव्य-संग्रहों, वन्यजीवों पर दो किताबें और दो उपन्यासों की लेखिका, रुथ पेडल; भारतीय उपन्यासकार, आलोचक और अकादमिक सैकत मजुमदार; श्रीलंकाई लेखक शेहान करुणातिलक, जिनकी किताब चाइनामैन: द लीजेंड ऑफ़ प्रदीप मेथ्यु को कॉमनवेल्थ प्राइज, डीएससी प्राइज से सम्मानित किया गया और क्रिकेट पर लिखी गई दूसरी सबसे बड़ी किताब माना गया; पुरस्कृत भारतीय फिल्म अदाकारा, टीवी पर्सनैलिटी और लेखिका सोनाली बेंद्रे; साहित्य अकादेमी युवा पुरस्कार विजेता लेखक तनुज सोलंकी; द बॉडी एडोर्न, डिस्कोर्स इन अर्ली बुद्धिस्ट आर्ट और योगिनी कल्ट सहित बहुत सी अनेक किताबों की लेखिका पद्म भूषण विद्या देहेजिया; वरिष्ठ भारतीय पत्रकार और नेशनल अवार्ड विजेता फ़िल्मकार विनोद कापरी| 

लेखिका, प्रकाशक और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल की को-डायरेक्टर नमिता गोखले ने कहा, “वक्ताओं की हमारी दूसरी सूची, जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022 के वैविध्य और गहनता को दर्शाती है| हमें गर्व है कि हम भिन्न भाषाओँ, संस्कृतियों और द्वीपों के लेखकों और चिंतकों, स्वपनदर्शी और कर्ताओं को आपके सम्मुख ला रहे हैं|” 

लेखक, इतिहासकार और जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के को-डायरेक्टर विलियम डेलरिम्पल ने कहा, “हम दुनियाभर से विशेष साहित्यिक प्रतिभाओं को लेकर फिर से वापस आ रहे हैं| फिक्शन में हमारे साथ हैं इस वर्ष के बुकर प्राइज विजेता डेमों गेल्गट, और उनसे पूर्व बुकर से सम्मानित होने वाली मोनिका अली व डीबीसी पिएरे, पुलित्जर विजेता जोनाथन फ्रेंजें और तुर्की की सुपरस्टार एलिफ शफाक| हमारे साथ प्रकृति पर लिखने वाले रोबर्ट मैकफार्लें हैं, हॉलीवुड के रुपर्ट एवेरेट और सबकी प्रशंसनीय विद्या देहेजिया| हमारा फोकस इस साल पुरातत्व और प्राचीन इतिहास पर भी रहेगा, जिसके लिए हमारे साथ हैं डेविड वेनग्रो|” 

हर साल, फेस्टिवल दुनिया के महान लेखकों, चिन्तकों, मानवतावादियों, राजनीतिकों, बिजनेस नेताओं, खेल से जुड़ी हस्तियों और मनोरंजन जगत के दिग्गजों को उस मंच पर लेकर आता है, जो सभी को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्रदान करता है| फेस्टिवल वर्ष 2007 में अपनी शुरुआत से अब तक 5000 से अधिक वक्ताओं व कलाकारों की मेजबानी के साथ लाखों साहित्यप्रेमियों का स्वागत कर चुका है| आज जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल दुनियाभर में छा गया है, और एक बार फिर से ये अपने घर पर चर्चाओं, संवाद और विचारों का दौर लेकर हाजिर है| 

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ