50 लाख रूपये के सोने की डकैती का पर्दाफाश

50 लाख रूपये के सोने की डकैती का पर्दाफाश, 

4 आरोपियों को किया गिरफ्तार 

 डकैती का मुख्य सूत्रधार निकला पडोसी दुकानदार 



सीकर 11 नवम्बर। थाना कोतवाली पुलिस ने 6 नवम्बर को शहर के सर्राफा व्यापारी से हुई 50 लाख रूपये के सोने की डकैती का पर्दाफाश कर 4 मुल्जिमों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने डकैती की वारदात करने वाले तीन बदमाशों को हरियाणा के सिरसा व मुख्य सूत्रधार पड़ोसी ज्वेलर को सीकर से गिरफ्तार कर लिया। पडौसी ज्वेलर शुभभ सोनी ने ही बदमाशों के साथ मिल डकैती की घटना करवाई थी।

     सीकर एसपी कुँवर राष्ट्रदीप ने बताया कि कोतवाली थाना क्षेत्र में घण्टाघर के सामने स्थित बी आर ज्‍वैलर्स के मालिक श्यामसुंदर सोनी 6 नवम्बर की रात दुकान बंद कर 1 किलो 70 ग्राम सोना 5 डली के रूप में बैग में रख कर स्कूटी से घर जा रहे थे। रास्ते मे अरिहंत हॉस्पिटल रोड़ पर पीछे से आई कार ने ओवरटेक कर उन्हें रुकवाया ओर गनपॉइंट पर धमका कर बैग लेकर भाग गये। रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर एएसपी रामचन्द्र मूण्ड व सीओ शहर वीरेन्द्र कुमार शर्मा के सुपरविजन व थानाधिकारी कन्हैया लाल के नेतृत्व में कोतवाली थाना, साईबर सेल एवं डीएसटी से विशेष टीम गठित की गई।

*सैंकड़ो सीसीटीवी खंगाल बदमाशो की पहचान कर बदमाशों तक पहुंची पुलिस*

     प्रकरण की गंभीरता को देखते हुये टीम ने घटनास्थल के आसपास, सीकर शहर, जयपुर रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरो के फुटेज चैक कर तकनीकी सहयोग से बदमाशो के आने-जाने के रूट को चिन्हित कर रींगस, चौमू, बहरोड, हिसार होते हुये हरियाणा तक के कई सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर बदमाशो की पहचान की। जिनकी गिरफ्तारी के लिये उनके मकान व हरियाणा में रोहतक, झज्जर, हिसार, सतनाली, सिरसा आदि संभावित स्थानो पर दबिश देकर घटना में शामिल आरोपी कमलदीप उर्फ कमल उर्फ धोलिया (32) निवासी चरखीदादरी हरियाणा, पंकज कुमार जाट उर्फ पिंटू उर्फ सेठ (30) निवासी गुढ़ागौड़जी झुंझुनूं एवं अभिषेक जाट (21) निवासी थाना चितावा हाल कुचामन सिटी जिला नागौर को सिरसा, हरियाणा से दस्तयाब किया गया तथा षड्यंत्रकारी ज्वैलर शुभभ सोनी को सीकर से दस्तयाब किया गया। 

*7 दिन पहले भी बनाया था लूट का प्लान, चोरी की गाड़ी नही होने से टाला, अगले दिन झुंझुनू में हथियार की नोंक पर गाड़ी लूट ली*

     30 अक्टूबर को अजमेर कोर्ट में तारीख पेशी पर जाने के दौरान आरोपी जयपुर रोड सीकर स्थित अभिषेक के किराये के फ्लैट पर रूके। शुभभ सोनी के कहे अनुसार ज्वैलर श्यामसुन्दर की रैकी की। मगर दीपावली नजदीक होने से बाजार में काफी भीडभाड होने तथा लूट की घटना को अंजाम देने के लिये चोरी की कोई गाड़ी नहीं होने के कारण लूट की घटना को टाल दिया। उसके बाद हरियाणा जाते समय 31 अक्टूबर की रात इन्होंने चिडावा जिला-झुन्झुनू से स्विफट डिजायर गाडी को हथियार की नोक पर लूट लिया। लूटी गई कार से सभी आरोपी 05 नवम्बर को वापस सीकर आकर अभिषेक के फलैट पर रूके। शुभम सोनी की मदद से श्याम सुन्दर सोनी की दुकान व उसके आने जाने की रैकी की गई। घटना के रोज प्लानिंग के तहत हथियार की नोक पर डकैती की वारदात को अन्जाम दिया गया। डकैती की वारदात के बाद फरारी काटने व गिरफ्तारी से बचने के लिये हरियाणा, गुडगाॅव, दिल्ली आदि जगहो पर छुपते रहे।

*गैंग द्वारा स्वीकार की गई वारदाते*

1. करीब 2 माह पहले नागौर में ट्रांसपोर्ट कम्पनी से धोखाधडीपूर्वक 30 लाख रूपये कीमत का तिलहन का ट्रक भरवाकर फरार हो गये।

2. करीब डेढ माह पहले सतनाली, हरियाणा में सर्राफा व्यापारी की दुकान से लूट की घटना की गई।

3. करीब एक माह पहले गांव डालनवास जिला-महेन्द्रगढ, हरियाणा में फायरिंग की घटना की गई।

4. करीब एक माह पहले जवाहर नगर, सतनाली, हरियाणा में फायरिंग की घटना की गई।

5. 31 अक्टूबर 2021 को चिडावा जिला-झुन्झुनू से स्विफट डिजायर गाडी  की हथियार की नोक पर लूट की गई।

*सोने का अवैध कारोबार करने वालों को बनाते है शिकार, ऐसे व्यक्ति या तो रिपोर्ट नही करते या लूट की मात्रा कम बताते है*

    प्रारम्भिक पूछताछ व अनुसंधान में सामने आया कि बदमाश ऐसे व्यक्ति को शिकार बनाते है जो सोने का अवैध कारोबार करते है, क्योंकि अक्सर ऐसे व्यक्तियो के साथ वारदात करने के बाद भी पीडित व्यक्ति या तो रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाता है या लूटे गये माल की बहुत कम मात्रा दिखाकर रिपोर्ट दर्ज करवाता है क्योंकि वास्तविक माल के खरीद के बिल उसके पास नहीं होते है। इस कारण अपराधी सोने-चांदी का अवैध कार्य करने वाले व्यक्तियो को विषेष टारगेट करने का प्रयास करते है।

*किसी को शक ना हो इसके लिए शुभभ लगातार पीड़ित के सम्पर्क में रह दिलासा देता रहा*

परिवादी के पड़ोसी दुकानदार शुभम सोनी ने फोन पर अपने हिस्से के रूप में बदमाशों से ₹500000 मांगे थे। लूट की घटना के उसने ही सोने को चेक कर सोना सही होना बताया। घटना में शामिल होने का किसी को शक ना हो इसके लिए वह बार-बार पीड़ित श्याम सुंदर से घटना के बाद मिलता रहा और बराबर संपर्क बनाए रखा।

                        

Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मुख्यमंत्री सोमवार को जारी करेंगे कोरोना की नई गाइड लाइन

शिक्षा विभाग ने स्कूल सफाई कर्मचारियों की उपेक्षा की-शासन नया परिपत्र जारी करे - कर्मचारी संघ