हिम्स बना भारत का पहला एकीकृत अस्पताल

 हिम्स बना भारत का पहला एकीकृत अस्पताल, 


 

इसके तहत संचालित क्लीनिकों को सीजीएचएस और डीजीएचएस की मंजूरी


जयपुर। चंडीगढ़ के निकट डेराबस्सी स्थित हिम्स (हॉस्पिटल एंड इंस्टीट्यूट ऑफ इंटीग्रेटेड मेडिकल साइंसेज), प्रतिष्ठित एनएबीएच (नेशनल एक्रेडिटेशन बोर्ड फॉर हॉस्पिटल्स एंड हैल्थकेयर प्रोवाइडर्स) से मान्यता प्राप्त करने वाला भारत का पहला एकीकृत अस्पताल बन गया है। हिम्स चंडीगढ़ और पश्चिम विहार, दिल्ली को भी एनएबीएच की मान्यता मिली है। ये अस्पताल किडनी और लिवर की विफलता, कैंसर तथा ऑटो-इम्यून के रोगियों का सफलतापूर्वक इलाज कर रहे हैं।

आमतौर पर एलोपैथी वाले अस्पतालों को एनएबीएच मान्यता मिलती है। यह एक बड़ी उपलब्धि है कि किसी आयुर्वेद अस्पताल को यह दर्जा मिला है। हिम्स भारत का पहला एनएबीएच आयुर्वेद पंचकर्म अस्पताल है, जहां दवाओं का उपयोग नहीं होता है। इसके बजाय हिम्स क्लीनिक में जीवनशैली में बदलाव और प्राकृतिक तरीकों से रोगियों को ठीक किया जाता है। " हमारे लिए यह गर्व की बात है कि आयुर्वेद को अब केंद्र सरकार से भी मान्यता और स्वीकृति मिल रही है। मैं हिम्स को एनएबीएच मान्यता प्रदान करने के लिए प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी और स्वास्थ्य मंत्रालय का आभारी हूं। अस्पताल की एनएबीएच मान्यता से हमारी गुणवत्तापूर्ण देखभाल, नैतिकता, निरंतरता और रोगियों के प्रति प्रतिबद्धता की पुष्टि होती है। हमें इस बात का गर्व है कि एनएबीएच ने हमारे अस्पताल में भरोसा जताया। हम पेशेवर माहौल में सर्वोत्तम सेवा प्रदान करने के अपने प्रयास जारी रखेंगे, ”गुरु मनीष, संस्थापक, हिम्स एवं शुद्धि आयुर्वेद, ने कहा। भारत में 100 से अधिक शुद्धि क्लीनिक है, और दिल्ली व एनसीआर में 12 आयुर्वेदिक क्लीनिक मौजूद हैं, जिन्हें सीजीएचएस और डीजीएचएस ने अनुमोदित किया है। जीना सीखो लाइफ केयर प्राइवेट लिमिटेड के रूप में संचालित ये आयुर्वेदिक क्लीनिक न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, ओल्ड राजेंद्र नगर, पीतमपुरा, रोहिणी, शास्त्री नगर, द्वारका, लक्ष्मी नगर, फरीदाबाद, नोएडा, गुरुग्राम, वैशाली और राजनगर (गाजियाबाद) में स्थित हैं। गुरु मनीष द्वारा फैलाई जा रही जागरूकता से आयुर्वेद में बीमा का एक नया चलन भी शुरू हुआ है। इस सुविधा के तहत अब सरकारी कर्मचारी मुफ्त में अपना इलाज करा सकेंगे। एनएबीएच एक निकाय है जो रोगी सुरक्षा और स्वास्थ्य देखभाल की गुणवत्ता के आधार पर मान्यता और संबद्ध कार्यक्रम संचालित करता है। इसके मानक, मूल्यांकन और प्रमाणन कड़े राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों पर आधारित होते हैं, जो एक निर्धारित समयावधि में  आत्म एवं बाह्य मूल्यांकन की प्रक्रिया के माध्यम से लागू किये जाते हैं। हिम्स एकीकृत चिकित्सा विज्ञान अस्पताल है, जो विभिन्न चिकित्सा प्रणालियों के विवेकपूर्ण मिश्रण का उपयोग करके रोगियों की चिकित्सा करता है। हिम्स विभिन्न चिकित्सा विज्ञानों की अच्छाई और उपचार क्षमता को एक छत के नीचे लेकर लाया है। इसके पीछे विचार यह रहा कि विभिन्न चिकित्सा प्रणालियों की सर्वोत्तम प्रथाओं का उपयोग करके मानव शरीर की किसी भी बीमारी का प्रभावी ढंग से इलाज किया जाये, ताकि रोग जड़ से ठीक हो जाएं।

Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे

18 जून को सुविख्यात ज्योतिषी दिलीप नाहटा पिंकसिटी में जयपुर वासियों को देंगे निशुल्क सेवा