27 फरवरी के धरने की रणनिति पर हुआ विचार

 5 सदस्यीय धरना कार्यक्रम कमेटी की बैठक अजमेर रोड स्थित V1 प्राइड  होटल में हुई संपन्न 

27 फरवरी के धरने की रणनिति पर हुआ विचार



जयपुर । कांग्रेस के घोषणा पत्र में पत्रकारों के लिए किए वादे को 3 साल होने पर भी गहलोत सरकार मैं उसे अभी तक अमलीजामा नहीं पहनाया है। इसी के विरोध स्वरूप पीरियोडिकल प्रेस ऑफ़  इंडिया आगामी 27 फरवरी ( रविवार) को धरना देने जा रही है इसी की रणनीति के लिए 5 सदस्यों की धरना कार्यक्रम कमेटी की बैठक रविवार को अजमेर रोड स्थित V1 प्राइड होटल में आयोजित हुई । इस बैठक में धरने संबंधी रणनीति पर विचार विमर्श किया गया । धरने  को सफल बनाने के लिए पीपीआई के अन्य पदाधिकारियों और सदस्यों को जिम्मेदारियां सौंपी गई।

शहीद स्मारक गवर्नमेंट हॉस्टल में दिए जाने वाला धरना कांग्रेस सरकार द्वारा किए वादों को ध्यान दिलाने हेतु दिया जा रहा है जिसमें मुख्य वादे हैं,, पत्रकार सुरक्षा अधिनियम कानून लागू हो। दूसरा डिजिटल मीडिया को मुख्यधारा से जोड़ते हुए तुरंत प्रभाव से नीति बनाई जाए। तीसरा अधिस्वीकरण में  सरलीकरण किया जाए ।

घोषणा पत्र में पत्रकार संगठनों को भूमि आवंटन की भी बात की गई थी। इसके साथ ही कोरोना काल में शहीद पत्रकारों को अभी तक मुआवजा पूर्ण रूप से नहीं मिल पाया है। इन मुख्य मांगों के साथ हाल ही में वरिष्ठ युवा पत्रकार अचलदीप पर हुए हमलावरों की तुरंत गिरफ्तारी हो आदि मुद्दों पर चर्चा की गई।

साथ ही कमेटी की बैठक में सभी पत्रकार साथियों, पत्रकार संगठनों, धार्मिक, सामाजिक संगठनों एवं एनजीओ को धरने में शामिल होने एवं समर्थन देने  का आह्वान किया गया।

 बैठक में कार्यक्रम संयोजक भरत शर्मा, राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ सुरेंद्र शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष सन्नी आत्रेय, प्रदेश संयुक्त सचिव एच.के.झा व जिला जयपुर, सचिव मनीष माथुर, आदि शामिल हुए।

Comments

Popular posts from this blog

माउंट आबू में पूर्व विधायक का माफियाराज!

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

मंत्रियों,सीएस से मिला कर्मचारी महासंघ (एकीकृत)प्रतिनिधिमंडल