ज्योतिष हमारी वैदिक परंपरा का हिस्सा : राज्यपाल

ज्योतिष हमारी वैदिक परंपरा का हिस्सा : राज्यपाल


 अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस का भव्य उद्घाटन


जयपुर 2 जुलाई । यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी और पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस का उद्घाटन राज्यपाल कलराज मिश्र ने दीप प्रज्वलित कर किया। उन्होंने कहा कि ज्योतिष हमारी वैदिक परंपराओं का मूल है और अनादि काल से भारतीय वैदिक परंपरा का हिस्सा रहे ज्योतिष विज्ञान ने सूर्य चंद्रमा की गति और ग्रहों की चाल की गणना उस समय ही कर ली थी जब विश्व विज्ञान के आरंभिक दौर में था।


मानसरोवर के दीपशिखा कॉलेज में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस के मुख्य अतिथि के रूप में राज्यपाल कलराज मिश्र ने अपने उद्बोधन में कहा कि विश्व को ज्ञान का पाठ पढ़ाने वाले भारतीय वेद उपनिषदों में ज्योतिष शास्त्र के अनेक ऐसे रहस्य छुपे हुए हैं जो वास्तव में तथ्यों के आधार पर बात करते हैं। "अनिश्चितता के इस वर्तमान युग में ज्योतिष और नई पीढ़ी का ज्योतिष की ओर रुझान" इस अति सजीव विषय पर संचालित हो रहे। आज के इस कार्यक्रम में हमारी ज्योतिष परंपराओं की पुनर्स्थापना और उन्हें घर-घर तक पहुंचाने का जो संकल्प युवा ज्योतिषियों द्वारा धारण किया जा रहा है। वह प्रशंसनीय है। ज्योतिष को एक सकरी गली से निकालकर उसे समस्त देश में विस्तार देना है और शिक्षा के माध्यम से उसका प्रचार युवाओं के मध्य करना है। जिससे हमारी युवा हो रही पीढ़ी भी ज्योतिष के महत्व को समझ सके खुद इस विषय का लाभ ले और दूसरों को भी लाभान्वित करें। इसी दिशा में अनेक राज्यों में और भारत में एक विस्तारित रूप से एक श्रृंखला के अंतर्गत वैदिक स्कूलों की स्थापना का प्रयास किया जाएगा। ज्योतिष को शिक्षा की परिधि के अंतर्गत लाकर हमारे इस वैदिक अनमोल ज्ञान को युवाओं तक पहुंचाने का यह प्रयास यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी और पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान द्वारा किया जाना अत्यंत सराहनीय है। 


उद्घाटन समारोह में राज्यपाल कलराज मिश्र, राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायाधीश गोपाल कृष्ण व्यास, यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के चेयरमैन प्रेम सुराणा, प्रो चांसलर डॉ अंशु सुराणा, पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान के निदेशक भविष्यवक्ता डॉ अनीष व्यास, लाल किताब विशेषज्ञ गुरुदेव जी डी वशिष्ठ,  ज्योतिषाचार्य रमेश भोजराज द्विवेदी, प्रोफेसर डॉ अनिल मित्रा, सत्य नारायण श्रीमाली, डॉ शेफाली गर्ग, पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान की महासचिव रंजीता अनीष व्यास ने मां सरस्वती, पाल बालाजी और गणेश जी के समक्ष दीप प्रज्वलित किया। सम्मेलन में कुलपति डॉ. वी. एन. प्रधान उपकुलपति डॉ. अंकित गांधी व डीन एवम  प्रशासनिक अधिकारी सम्मिलित हुए l


यूनिवर्सिटी के चेयरमैन प्रेम सुराणा ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस में यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी की ओर से ज्योतिष विभाग के नए पाठ्यक्रम और विषय के ब्रोसर का अनावरण किया गया। अंतरराष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस में विद्वान ज्योतिषाचार्यों को गोल्ड मेडल मोमेंटो और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इसमें ज्योतिष के साथ शिक्षा चिकित्सा मीडिया और समाज सेवा के लोगों को सम्मानित किया गया।


यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रो चांसलर डॉ अंशु सुराणा ने बताया कि यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी और पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस में अनिश्चितता के वर्तमान युग में ज्योतिष और नई पीढ़ी का ज्योतिष की ओर रुझान विषय पर लाल किताब विशेषज्ञ गुरुदेव जी डी वशिष्ठ,  प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य रमेश भोजराज द्विवेदी, गुरुदेव रमेश सेमवाल , शुभेश शरमन, प्रोफेसर डॉ अनिल मित्रा, सत्य नारायण श्रीमाली, डॉ शेफाली गर्ग ने अपने विचार प्रकट करते हुए युवाओं को ज्योतिष सीखने के साथ मंत्र पूजा पाठ विवाह मांगलिक कार्य और कर्मकांड करने की सलाह दी। 


अंतरराष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस पाल बालाजी ज्योतिष ज्ञान महोत्सव में विप्र कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष महेश शर्मा एवं राजस्थान श्रम कल्याण सलाहकार बोर्ड के उपाध्यक्ष जगदीश राज श्रीमाली, यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के चेयरमैन प्रेम सुराणा प्रो चांसलर डॉ अंशु सुराणा, पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान के निदेशक भविष्यवक्ता डॉ अनीष व्यास, लाल किताब विशेषज्ञ गुरुदेव जी डी वशिष्ठ,  ज्योतिषाचार्य रमेश भोजराज द्विवेदी, प्रोफेसर डॉ अनिल मित्रा, सत्य नारायण श्रीमाली, डॉ शेफाली गर्ग, पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान की महासचिव रंजीता अनीष व्यास ने देश विदेश के 270 से अधिक ज्योतिष शिक्षा चिकित्सा मीडिया और समाज सेवा के लोगों को सम्मानित किया।


पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक विश्वविख्यात भविष्यवक्ता एवं कुंडली विश्लेषक डॉ अनीष व्यास ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस में दक्षिण मुखी बालाजी मंदिर हाथोज धाम के बालमुकुंदाचार्य महाराज, टीवी सेलिब्रिटी पंडित मुकेश शास्त्री, अंक शास्त्री कुमार गणेश, दिनेश गुरुजी, घनश्याम द्विवेदी अनुपम जौली, टीवी सेलिब्रिटी डीपी शास्त्री, डॉ पूनम शर्मा, प्रवीण सोनी, डॉ भैरू प्रकाश दाधीच, सपना सारस्वत, रंजीता अनीष व्यास,  हिमानी शास्त्री, यश व्यास, रमेश शर्मा, मुकेश अग्रवाल, श्रेयांश व्यास, नीरू भाटिया, मीनू, निधि चौधरी, डॉ रवि शर्मा, पंडित चंद्रशेखर शर्मा, विश्व कुमार शर्मा, लक्ष्मी शर्मा, विप्र फाउंडेशन के राजेश कर्नल, विप्र महासभा के सुनील उद्देया, असिस्टेंट कमिश्नर जीएसटी कौशल भारद्वाज, एडिशनल डायरेक्टर डी पी आर अरुण जोशी, उद्योगपति रमाकांत पारीक, जितेंद्र सिंह भाटी, डॉ सुनील राजपुरोहित डॉ सोमेंद्र सारस्वत ने भाग लिया।


 




Comments

Popular posts from this blog

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

एसओजी ने महिला पुलिसकर्मी को कालवाड़ में मौसा के घर से दबोचा,

मंत्रियों,सीएस से मिला कर्मचारी महासंघ (एकीकृत)प्रतिनिधिमंडल