भारत में 5 तरह के साप ही होते है जहरीले- डॉ. नरेन्द्र नाथ

 क्लिनिकल टॉक्सिकोलॉजि पर नेशनल  कॉन्फ्रेस का आयोजन 

     

देश - विदेश के 170 से अधिक डॉक्टर्स ने लिया हिस्सा 

भारत में 5 तरह के साप ही होते है जहरीले- डॉ. नरेन्द्र नाथ   

जयपुर । राजधानी के एक होटल में  कॉन्फ्रेंस का आयोजन हुआ।आयोजन सचिव डॉ. मलय मिश्रा  ने बताया की जयपुर में पहली बार इस तरह की राष्ट्रीय स्तर की कॉन्फ्रेंस का आयोजन हुआ। जिसमें संपूर्ण भारत व नेपाल आदि देशों सहित 170 से अधिक डॉक्टर्स ने हिस्सा लिया। 

इस आयोजन में जानवर के काटने व जहर पीने के दौरान किये जाने वाले उपचार के बारे में डॉक्टर्स को नई तकनीक व उपचार की विधियों के बारे में बताया गया। कॉन्फ्रेस की शुरुवात  26 अगस्त को दीप प्रज्जवलन के द्वारा की गई। 

दीप प्रज्जवलन डॉ. सुशील गौतम डबल्युएचओ, डॉ. नरेन्द्र नाथ,  रंजन ठाकुर डायरेक्टर मणिपाल हॉस्पिटल जयपुर,  डॉ. मलय मिश्रा, डॉ. दीपक यदुवंशी, डॉ. विपिन जैन व डॉ. अजय थापा ने किया। 

सोसायटी के अध्यक्ष डॉ. नरेन्द्र नाथ जना ने बताया की सापं के काटने या जहर पीने पर घबराना नहीं चाहिये व उसे कुछ भी पिलाना नहीं चाहिये जबकी तुरंत ही पास के हॉस्पिटल में ले जाना चाहिये। मुंह से जहर निकालना नहीं चाहिये। सापं काटने के आगे के भाग को आराम से बाध देना चाहिये। 

वर्तमान युग में हेमोफरफ्यूजन जैसी तकनीकों के द्वारा सापं के काटने व जहरखुरानी का पूर्ण उपचार संभव है। नई पीढी के डॉक्टर्स को तकनीक के बारे में मैनिक्वीन पर प्रेक्टिकल करके भी बताया गया की किस तरह का उपचार ऐसी घटनाओं के दौरान किया जाना चाहिये। 

 रंजन ठाकुर हॉस्पिटल डायरेक्टर मणिपाल हॉस्पिटल ने बताया की इस तरह के आयोजन हम सदैव से करते रहे हैं व आगें भी करते रहेगे। इसी से चिकित्सा जगत का भविष्य तह होता है व आम जन को सुविधा मिलती है।

Comments

Popular posts from this blog

माउंट आबू में पूर्व विधायक का माफियाराज!

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल

ब्यावर के ज्योतिषी दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी