जर्मनी से उठी वन्दे मातरम् की गूंज, बना अद्भुत विश्व रिकॉर्ड

 जर्मनी से उठी वन्दे मातरम् की गूंज, बना अद्भुत विश्व रिकॉर्ड 


जयपुर(जे पी शर्मा)। जर्मनी में रह रहीं इंदु नांदल के नेतृत्व में 150 से अधिक देश भक्ति कविताओं के अंतरराष्ट्रीय काव्य संग्रह का विश्व रिकॉर्ड बनाया। 

इंदु ने बताया कि यह देश प्रेम से ओतप्रोत रचनाओं का विश्व रिकॉर्ड भारत माता को समर्पित है। उन्होंने कहा कि उनके ये प्रयास साहित्य व संस्कृति का प्रचार व सेवा करने के लिए हैं ।

भारत से दूर रहकर भी वो भारत की मिट्टी की सुगंध हर पल विदेश में महसूस करती हैं । 

इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हुए विश्व भर से अनेक कवि - कवयित्रियों के नाम निम्न प्रकार हैं । सुरेश चौधरी कोलकाता, दुर्गा सिन्हा उदार,अमेरिका,लीना शारदा इंडोनेशिया,स्वर्ण तलवाड यू के , साहिल  नांदल कनाडा ,डॉ गौतम सागर जर्मनी, वैशाली रस्तोगी इंडोनेशिया ,कादंबरी आदेश अमेरिका,वंदना खुराना  यू के,डॉ दिनेश व्यास ललकार,अस्मिता शैली ,कुलवंत कौर चनं फ़्रांस ,मोहिंदर सिंह जगी पंजाब , रणजीत सिंह चंन फ़्रांस, डॉ.संगीता भारद्वाज मैत्री ,कल्याणी झा कनक,मोनिका रूसिया ,नसीम अहमद कच्छी ,रश्मि मृदुलिका,नवनीता चौरसिया,वेदवंती देवी रोहतक, अलका मधुसूदन  पटेल , डॉ निनामा रायसिंह सोमाभाई, निधि विश्वकर्मा कानपुर,नीलम नेगी ,ऋतम्भरा सेमवाल, मीनू राजेश शर्मा , डॉ आशा श्रीवास्तव, मथुरा प्रसाद कोरी, सुनीता राजेश कुमार परसाई (सुराज), विद्या निर्गुडकर , करुणा झा, बी नेगी कृष्णा उत्तराखंड , गायत्री नीरज चौबे , मंजू शर्मा , गोविंद गुप्ता , अंजना सिंह  , मदन श्रीवास्तव, अरुणा दहिया रोहतक , डॉक्टर अंजुल कंसल कनुप्रिया डॉ प्रशांत भट्ट पंजाब , मनोहर चौबे आकाश , डॉ गीता पांडेय बेबी , त्यागी अशोका कृष्णम, किरण वैद्य 'कठिन', एकता कोचर रेलन, मंजु जायसवाल, राज किशोर बाजपेयी, डाक्टर दुर्गेश नंदिनी  तेलंगाना, रूची गुप्ता, श्यामा गुप्ता ,रचना श्रीवास्तव, मनोज कुमार शुक्ला , मनोरमा मिश्रा  अयोध्या, अनुराधा त्यागी, श्यामा देवी गुप्ता दर्शना, उमंग रोहतक, अपर्णा नायक , स्मृति चौधरी , डॉ० ज्योति राज हरियाणा , कमला राठी हरियाणा, वंदना हिना मलिक, स्मिता चौधरी  ताशकेंट उज़्बेकिस्तान, अश्विनी केगांवकर नेदरलैंड्स , इंजी विनोद नयन ,पदमा तिवारी, पूनम ग्रोवर, निशु अंतिल हरियाणा ,डॉ शिप्रा शिल्पी सक्सेना जर्मनी,आदित्य देव खुराना जर्मनी, अक्षया खुराना  यू के , आरुषि देविका खुराना यू के।

इंदु ने बताया कि देश पर लिखना वो अपनी ज़िम्मेदारी मानती हैं ।इंदु ने विशेष रूप से सुरेश चौधरी का धन्यवाद किया जिन्होंने बिना फ़ायदे नुक़सान के वन्दे मातरम् विश्व रिकॉर्ड अंतरराष्ट्रीय काव्य संग्रह को छापने का प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा कि देश प्रेम पर विश्व रिकॉर्ड बनाना एक अत्यंत सुखद अनुभव था जिसमें विश्व भर के कवि - कवयित्रियों के साथ साथ उनके पति  संजीव नांदल ने हर कदम पर उनका साथ दिया । उन्होंने आशा गिरधर का तहेदिल से धन्यवाद किया जो विश्व रिकॉर्ड इवेंट की विटनेस रहीं। उन्होंने बताया कि 86 वर्ष की आयु में हरियाणा की कमला राठी ने देश भक्ति पर कविताएँ लिख सबको देश पर लिखने के लिए प्रेरित किया ।

इंदु  नांदल ने इंटरनेशल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की पूरी टीम का तहेदिल से धन्यवाद किया । 

उन्होंने कहा कि वन्दे मातरम् सिर्फ़ विश्व रिकॉर्ड नहीं है ये 72 रचनाकारों की 154 देश भक्ति की कविताओं का अंतरराष्ट्रीय काव्य संग्रह है जो राष्ट्रीय भाव बन हर ह्रदय में उतर जाएगा ।

इंदु  ने बताया कि वे ऐसे ही और विश्व रिकॉर्ड बनाकर साहित्य व संस्कृति की सेवा करते रहेंगे । अंत में उन्होंने कहा कि देश भक्ति की कविताओं पर विश्व रिकॉर्ड बनाकर ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे तिरंगा सिर्फ़ लाल क़िले पर नहीं पूरे विश्व में फहरा दिया हो ।

Comments

Popular posts from this blog

माउंट आबू में पूर्व विधायक का माफियाराज!

ब्यावर के ज्योतिषी दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी

डीएसपी हीरालाल सैनी का वीडियो वायरल