केरल टूरिज्‍़म ने यात्रियों को आकर्षित करने के लिए अपनी रणनीति में किए बदलाव

केरल टूरिज्‍़म ने यात्रियों को आकर्षित करने के लिए अपनी रणनीति में किए बदलाव


जयपुर 24 जनवरी। वैश्विक पुरस्कारों और सम्‍मानोंसे उत्साहित होकर, केरल टूरिज्‍़म कई नई परियोजनाएं और कार्यक्रम शुरू करने जा रहाहै जो इस राज्य को एक ऑल-सीज़न-डेस्टिनेशन में बदल देंगे। इतना ही  नहीं, इससे नए जमाने के यात्रियों के लिए गांवों के दूरदराज हिस्सों और कम मशहूर जगहोंकी मंत्रमुग्ध करने वाली खूबसूरती पेश की जाएगी और उन्‍हें  अपनी यात्रा के  दौरान कुछ नया सीखने वाला, आरामदायक और ताजगी से  भरपूर अनुभव मिलेगा। केरलटूरिज्‍़म के लिए 2022 महत्वपूर्ण उपलब्धियों और प्रेरणादायक वैश्विक और राष्ट्रीयसम्मानों से भरा साल रहा है।  टाइम मैगेज़ीन ने केरल को ‘50 एक्स्ट्राऑर्डिनरी डेस्टिनेशन्स टू एक्सप्लोर इन 2022’ मेंसे एक के तौर पर प्रस्तुत किया है। कॉन्डे नास्ट ट्रेवलर मैगेज़ीन ने केरल के ‘अयमानमगाँव’ को यात्रा करने के लिए साल 2022 के 30 सर्वोत्तम जगहोंमें से एक के तौर पर पेश किया है और केरल राज्य को ट्रैवल एंड लीशर मैगेज़ीन द्वाराग्लोबल विज़न पुरस्कार के लिए चुना गया। 


इसके साथ ही ट्रैवल प्लस लीशर के पाठकों द्वारा केरल राज्य को ‘बेस्ट वेडिंग डेस्टिनेशन’ के तौर पर चुना गया। मार्केटिंग कैम्पेनपर प्रतिक्रिया देते हुए पर्यटन मंत्री पी ए मोहम्मद रियास ने कहा, “हमारा फोकस केवल समुद्री तटों,बैकवाटर और हिल स्टेशनों तक सीमित नहीं रहेगा। अब हम संपूर्ण केरल का बदलाव करने जा रहे हैं और इसे आपस में जुड़ा हुआ पर्यटकों का स्वर्ग बना रहे हैं । जहाँ यात्रियों कोबहुत सारे विकल्प और विविध प्रकार के अनुभव प्राप्त हो सकेंगे। 


इन सबकी वजह से केरल की यात्रा उन यात्रियों के लिए एक समग्र अनुभव होगा जो विविध प्रकार के अनुभवों की तलाश में रहते हैं – चाहे हाउसबोट में रहना हो या एक कार वैन में, पर्यावरण की दृष्टि से ज़िम्मेदार साहसिक गतिविधियाँ हो या फिर विरासत और सांस्कृतिक केंद्रों की यात्रा।” उन्होंने आगे जोड़ते हुए कहा, “एक ग्लोबल वेडिंग डेस्टिनेशन और हनीमून पर जाने वाले कपल्स के लिए एक स्वर्ग के तौर पर केरल का प्रचार करने के लिए एक संगठित रणनीति के तहत विभिन्न प्रकार की मार्केटिंग गतिविधियों की योजना बनाई गई है।”केरल टूरिज्‍़म के प्रधान सचिव के एस श्रीनिवास ने कहा कि राज्य में पिछला साल, खास तौर पर कोविड-19 महामारी द्वारा बुरी तरह प्रभावित होने के बाद पर्यटन क्षेत्र के लिए लाभ और उपलब्धियों से भरा रहा है । 


उन्होंने कहा, “केरल के हाउसबोट,कारवैन स्टे, जंगल लॉज, प्लांटेशन की यात्रा, होमस्टे, आयुर्वेद आधारित वेलनेस सॉल्यूशन्स,ग्रामीण क्षेत्रों में पैदल यात्रा और हरियाली से भरे पर्वतों की ट्रेकिंग सहित साहसिक गतिविधियाँ यह सब यात्रियों के लिए बहुत ही आनंददायक रहेंगे और उन्हें एक अनोखा अनुभवप्रदान करेंगे।” उन्होंने कहा,  “हमारे प्रयास यात्रियों को ऐसी जगहों की यात्रा पर जाना सुविधाजनक बनाएंगे जहाँ पर्यटक नहीं गए हैं और हमारे राज्य में ऐसी खूबसूरत जगहों की भरमार है।” केरल टूरिज्‍़मडायरेक्टर,  पी बी नूह ने कहा, “केरल की नई परियोजनाओं जैसे कारवैन टूरिज्‍़म– “केरावैन केरला”, और इसके साथ ही समुद्री तट, हिल स्टेशन, हाउसबोट और बैकवॉटर सेगमेंट जैसे इसके मूलभूत एसेट्स को प्रदर्शित करने और असरदार तरीके से बढ़ावा देने के लिए हमने विस्तृत योजनाएं बनाई हैं ताकि यात्रियों के संपूर्ण अनुभव को ऊंचाई तक ले जाया जा सके। ”


 उन्होंने आगे जोड़ते हुए कहा, “पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हमारे नए कार्यक्रम पर्यावरण की अनिवार्यताओं और संवहनीयता के अनुरूप हैं।”पिछले साल घरेलू पर्यटकों को आकर्षित करने के मामले में केरल ने अब तक का सर्वोच्च आंकड़ा हासिल किया है। साल की पहले तीन तिमाही में राज्य ने 1.33 करोड़ पर्यटकों की मेज़बानी की। महत्वपूर्ण रूप से, महामारी से पहले के वर्ष के आंकड़ों के मुकाबले इसमें 1.94फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। पिछले साल, राज्य के ज़िम्मेदार पर्यटन कार्यक्रम के तहत  स्‍ट्रीट प्रोजेक्ट को वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट(WTM) लंदन में वैश्विक पुरस्कार प्राप्त हुआ। इसके अलावा, इंडिया टुडे ने ‘बड़े राज्यों’ की श्रेणी में केरल को पर्यटन के क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रदर्शन करने वाले राज्य के तौर पर पहले पायदान पर रखा।


 फिलहाल दिसंबर 2022-अप्रैल 2023 तक चलने वाले कोच्चि-मुज़िरिस फेस्टिवल, जो हर दो साल में आयोजित किया जाता है, को दुनियाभर के कला के जानकारों और इसके साथ ही पर्यटकों की ओर से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिल रही है। ‘निशागंधी फेस्टिवल’ जैसे उत्सव संपूर्ण देश के कलाकारों को एक मंच प्रदान करेंगे जहाँ ये कलाकार विभिन्न प्रकार की पारंपरिक कलाओं को पेश करेंगे।   इस महीने दिल्ली और चंडीगढ़ में आयोजित पहली बी2बी भागीदारी बैठक में उद्योग से बहुत ही प्रोत्साहक प्रतिक्रिया मिली, और इसके बाद ट्रेवल ट्रेड नेटवर्किंग के लिए कई गतिविधियाँ आयोजित की जाएंगी जिसमें शामिल है ट्रेड फेयर में सहभागिता और बी2बी रोड शोज का आयोजन। 


मुंबई में जियो वर्ल्ड कन्वेंशन सेंटर में फरवरी 2-4 को आयोजित होने वाले ओटीएम (आउटबाउंडट्रैवल मार्केट) प्रदर्शनी में केरल टूरिज़म की मौजूदगी रहेगी जिसमें राज्य की अनूठी पर्यटन संबंधी विशेषताओं को प्रदर्शित किया जाएगा। इसके अलावा साउथ एशियन ट्रैवल एंड टूरिज्‍़म एक्सचेंज (SATTE), नई दिल्ली और ट्रैवल एंड टूरिज्‍़म फेयर (TTF) चेन्नई में केरल राज्य की पर्यटन से जुड़ी गतिविधियाँ प्रमुख आकर्षणों में से एक रहेंगी। इसके अलावा, जनवरी में लखनऊ में केरल टूरिज्‍़म द्वारा रोड शो आयोजित किया जाएगा । फरवरी के दौरान अहमदाबाद, चेन्नई, हैदराबाद और बैंगलुरू में बी2बी ट्रेड बैठकों की एक और श्रृंखला आयोजित की जाएगी।

Comments

Popular posts from this blog

माउंट आबू में पूर्व विधायक का माफियाराज!

ब्यावर के ज्योतिषी दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी

मंत्रियों,सीएस से मिला कर्मचारी महासंघ (एकीकृत)प्रतिनिधिमंडल