रंगों से सजाए देश प्रेम के जज्बात

                  रंगों से सजाए देश प्रेम के जज्बात



                   सैन्य कैंप रहा आकर्षण का केंद्र




                 लुभा रही विभिन्न राज्यों की प्रदर्शनी

साहसिक, बौद्धिक, सांस्कृतिक गतिविधियों में बिखरा उल्लास

पाली (महावीर दाधीच)। जिले के निम्बली रोहट में चल रही भारत स्काउट गाइड की 18वी राष्ट्रीय स्काउट गाइड जंबूरी में विविधता में एकता का मंत्र पग-पग पर  गूंज रहा है। देश विदेश से आए स्काउट गाइड का यह समागम ग्लोबल विलेज की अवधारणा का साक्षात मूर्त रूप बना हुआ है। जंबूरी में तीसरे दिन का मुख्य आकर्षण सैन्य कैंप रहा। वहीं  साहसिक बौद्धिक और सांस्कृतिक गतिविधियों में स्काउट गाइड का उत्साह देखते ही बन रहा है। तीसरे दिन भी जम्बूरी दर्शन के लिए आने वालों का तांता लगा रहा। देश भर से पहुंचे लोगों ने जंबूरी में भ्रमण किया।

राष्ट्रीय जंबूरी के तीसरे दिन की शुरुआत भी सुबह 6ः30 बजे बीपी सिक्स एक्सरसाइज (ब्रेडन पॉवेल द्वारा प्रतिपादित व्यायाम) के साथ हुई। सुबह 8ः30 स्काउट अधिकारियों ने सभी कैंप का निरीक्षण कर ध्वजारोहण किए। इसके बाद असेंबली एक्टिविटी शुरू हुई। इसमें साहसिक, मनोरंजक और बौद्धिक गतिविधियां आयोजित की गई। साथ ही नाइट हाइक के लिए रजिस्ट्रेशन भी किए गए।

तीसरे दिन शुक्रवार को रंगोली प्रतियोगिता हुई। आजादी का अमृत महोत्सव थीम पर आयोजित इस प्रतियोगिता में राजस्थान सहित सभी प्रांतों से आए स्काउट गाइड ने अपने-अपने कैंप में राष्ट्रीयता से सराबोर भावनाओं को रंगों से सजाया। स्काउट अधिकारियों सहित विजिटर्स ने इनका अवलोकन कर स्काउट गाइड का हौंसला बढ़ाया।

जम्बूरी में शुक्रवार को सजा भारतीय थल सेना का कैंप सर्वाधिक आकर्षण का केंद्र रहा। स्काउट गाइड में देश प्रेम की भावना का संचार करने तथा भारत की सैन्य शक्ति से रूबरू कराने के लिए विभिन्न लड़ाकू टैंक्स सहित अन्य सैन्य हथियारों को प्रदर्शित किया गया। इन्हें देख कर शिविरार्थी और आगंतुकों के सीने गर्व से चौड़े हो गए। जम्बूरी में स्काउट गाइड की साहसिक गतिविधियां सभी को अचरज में डाले हुए हैं।

जीप साइकिलिंग, बैलेंसिंग, क्लाइम्बिंग सहित वाटर एक्टिविटी में स्वयंसेवक उत्साह से भाग ले रहे हैं। जंबूरी स्थल पर विभिन्न प्रांतों की प्रदर्शनियां आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। सभी राज्यों से आए स्काउट गाइड ने अपने-अपने कैंप में संबंधित राज्यों की विशिष्ट हस्तशिल्प सामग्रियों आदि की प्रदर्शनी सजाई गई है। वहीं अपने वहां के विशिष्ट स्थलों की कृतियां भी निर्मित की हैं । उन्हें देखकर लोगो को भारत दर्शन का सा अहसास हो रहा है।

रैली ने कराया भारत दर्शन,  पाली ने बिछाए पलक पावडे



स्काउट गाइड ने किया शहर भ्रमण

 राष्ट्रीय स्काउट गाइड जम्बूरी के तीसरे दिन शुक्रवार को विभिन्न प्रांतों से आए 500 स्काउट गाइड के दल ने परंपरागत वेशभूषा में पाली शहर का भ्रमण किया। इससे पालीवासियों को मानो भारत दर्शन सी अनुभूति हुई।


अतिथि सत्कार के लिए विख्यात पाली ने इन नन्हे पावणो का पलक पावडे बिछा कर स्वागत किया।

रोहट स्थित जम्बूरी स्थल से विभिन्न प्रान्तों के 500 स्काउट गाइड का दल दोपहर करीब 1ः00 बजे सेवा समिति आश्रम पहुंचा। वहां से भोजन के पश्चात दल बांगड़ विद्यालय खेल मैदान आया। यहां स्काउट-गाइड की रैली को अतिरिक्त जिला कलेक्टर प्रशासन चंद्रभानसिंह भाटी, एडीएम सिलिंग जब्बरसिंह, समाजसेवी महावीरसिंह सुकरलाई ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान स्काउट राज्य संगठन आयुक्त बाबूसिंह राजपुरोहित, सीओ स्काउट पाली गोविंद मीणा, सहायक जिला कमिश्नर बसंत परिहार आदि भी उपस्थित रहे। रैली में सभी प्रान्तों के बच्चे अपने वहां की परंपरागत वेशभूषा धारण किये थे। वहीं हाथों में राष्ट्रीयता और सद्भावना से ओतप्रोत नारों की तख्तियां थामे चल रहे थे। रैली बांगड़ स्कूल से शुरू होकर अहिंसा सर्कल, नवलखा रोड, गुलजार चौक, गोल निंबड़ा, सर्राफा बाजार, सोमनाथ मंदिर, सूरजपोल,  अंबेडकर सर्कल, गांधी मूर्ति, शहीद स्मारक होते हुए मिल गेट बस स्टैंड पहुंची। वहां से वाहनों में जंबूरी स्थल के लिए रवाना हुए। रैली का जगह-जगह पर विभिन्न संस्था-संगठनों ने स्वागत किया।

Comments

Popular posts from this blog

माउंट आबू में पूर्व विधायक का माफियाराज!

ब्यावर के ज्योतिषी दिलीप नाहटा की भविष्यवाणी

मंत्रियों,सीएस से मिला कर्मचारी महासंघ (एकीकृत)प्रतिनिधिमंडल