पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी को पुष्पांजलि अर्पित

      पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी को पुष्पांजलि अर्पित 



             पीसीसी में कार्यक्रम का हुआ आयोजन 



   प्रभारी सुखजिंदर सिंह व मुख्यमंत्री गहलोत भी रहे मौजूद 



जयपुर, 21 मई। भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गाँधी के बलिदान दिवस पर रविवार को  प्रदेश कांग्रेस द्वारा प्रदेश, जिला एवं ब्लॉक स्तर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, इन्दिरा गाँधी भवन, जयपुर पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा एवं पुष्पांजलि कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। प्रार्थना सभा में पं. जगदीश शर्मा ने भजन प्रस्तुत किए, सरदार मनिन्दर सिंह बग्गा ने गुरूबाणी का पाठ किया, कारी अब्दुल रशीद ने कुरान की आयतें पढ़ी तथा फादर विजयपाल ने बाईबल का पाठ किया। 



राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता स्वर्णिम चतुर्वेदी ने बताया कि प्रार्थना सभा में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राजस्थान प्रभारी  सुखजिन्दर सिंह रंधावा, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा, प्रदेश के मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत सहित राजस्थान सरकार के मंत्रिमण्डल के सदस्यगण, विधायकगण, निगम/बोर्ड के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष, प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारीगण, जयपुर शहर एवं देहात जिला कांग्रेस कमेटियों के निवर्तमान पदाधिकारीगण, अग्रिम संगठनों के पदाधिकारीगण, विभागों व प्रकोष्ठों के वर्तमान/निवर्तमान पदाधिकारीगणों सहित अनेक कांग्रेसजन शामिल हुए।


प्रार्थना सभा में उपस्थित कांग्रेसजनों को सम्बोधित करते हुए राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष  गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गाँधी ने देश को 21वीं सदी में ले जाने का जो सपना देखा था और अपने सपने को पूर्ण करने हेतु जो योगदान दिया, उसी की परिणीति है कि हम आज के आधुनिक एवं विकसित भारत को देख रहे है। उन्होंने कहा कि स्व. श्री राजीव गाँधी ने देश के युवाओं को सरकार में भागीदारी देने के लिए 18 वर्ष की उम्र पर मत देने का अधिकार प्रदान कर देश के युवाओं को अपने सपनों के भारत का निर्माण करने का अवसर दिया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के विकास हेतु स्व. गाँधी ने पंचायती राज को कानून बनाकर गाँव-ढाणी में बैठे हुए लोगों को अपने विकास की योजनाएं बनाने एवं सरकार से लागू करवाने का अवसर प्रदान किया। उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थान को मजबूत करने से देशभर के गाँव एवं ढाणियों में पंचायती राज के द्वारा विकास के कार्य हुए। उन्होंने कहा कि स्व. श्री राजीव गाँधी की ही सोच थी कि देश की आधी आबादी को विकास की मुख्यधारा में लाकर बराबरी का दर्जा मिले इसलिए पंचायती राज कानून में महिलाओं, दलितों एवं पिछड़ों को आरक्षण प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि स्व. गाँधी की दूरगामी सोच का ही परिणाम है कि आज ग्लोबलाईजेशन के युग में कम्प्यूटर एवं संचार माध्यम विकसित किए गए। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गाँधी दुनियाभर में अपने विचारों एवं उन्नत सोच के कारण सम्मान पाते थे। उन्होंने कहा कि स्व. गाँधी के समय जो शिक्षा नीति बनी उसका ही परिणाम है कि भारत के युवा उच्च शिक्षा पाकर विदेशों में नाम कमा रहे है तथा अमेरिका जैसे विकसित देश की सरकारों को भारतीय युवाओं के आने से भय लगने लगा था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गाँधी के विचारों एवं कार्यों से प्रेरणा लेकर उनके दिखाए मार्ग पर चलते हुए देश में संविधान एवं लोकतंत्र की रक्षा करने हेतु कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पं. जवाहर लाल नेहरू ने आज के स्वर्णिम भारत की नींव रखी। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्रीमती इंदिरा गांधी ने भारत को मजबूत बनाने का कार्य किया तथा पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गाँधी ने सूचना एवं प्रौद्योगिकी क्रांति के द्वारा भारत में आधुनिक युग की शुरूआत की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के महान नेताओं का देश के निर्माण में अहम योगदान रहा है। राजस्थान की सरकार जन-कल्याण हेतु सोशल सिक्योरिटी के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि स्व. श्री राजीव गाँधी की पुण्यतिथि के अवसर पर सभी कांग्रेस कार्यकर्ता युवाओं तक कांग्रेस की विचारधारा एवं कार्यों को पहुँचाने का संकल्प लें। उन्होंने कहा कि सभी कांग्रेस कार्यकर्ता कांग्रेस की विचारधारा को आगे बढ़ाते हुए आगामी विधानसभा चुनाव में प्रदेश में पुन: कांग्रेस की सरकार बनाने तथा वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में केन्द्र की सत्ता से फासीवादी ताकतों को हटाने का संकल्प लें। 


इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राजस्थान प्रभारी  सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने कहा कि भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गाँधी की शहादत का यह दिन कोई कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ता भूल नहीं सकता। उन्होंने कहा कि पहले पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी की शहादत हुई उसके पश्चात् श्री राजीव गाँधी चले गए जो कि बहुत ही दु:खद घटना थी। उन्होंने कहा कि गाँवों में पहले टेलीफोन करने के लिए शहर जाना पड़ता था किंतु स्व. श्री राजीव गाँधी के विजन के कारण ही देश में टेलीफोन, कम्प्यूटर और टेलीविजन घर-घर पहुंचे। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी जब पूछती है कि कांग्रेस पार्टी ने 70 वर्षों में क्या किया तो उसका जवाब यही है कि आज हर हाथ में जो मोबाईल, कम्प्यूटर है, देश में रेल, एयरफोर्स एवं सेना का आधुनिकीकरण हुआ, जिसके कारण कारगिल जैसी जंग सेना ने जीती वह देन पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गाँधी की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने देश के लिए काम किया और युवाओं के प्रेरणास्त्रोत बने। उन्होंने कहा कि देश का प्रधानमंत्री 7 साल एक मुद्रा नहीं चला सका उसे कांग्रेस पर प्रश्न करने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की धर्मनिरपेक्ष नीति का परिणाम है कि 2 प्रतिशत की जनसंख्या वाले सिक्ख समुदाय से आने वाले सरदार डॉ. मनमोहन सिंह दो बार प्रधानमंत्री बने, क्योंकि कांग्रेस पार्टी की विचारधारा जाति, धर्म और समुदाय के बजाय धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करती है। उन्होंने कहा कि जो अपना इतिहास भूल जाते है उनका कोई भविष्य नहीं होता। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में काम करने वाले देश के लिए योगदान देने में विश्वास रखते है, कुछ लेने या स्वार्थ सिद्धी में नहीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का गौरवशाली इतिहास है तथा स्व. श्री राजीव गाँधी की सोच एवं विचारों को अंगीकार करते हुए सभी कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को उनके दिखाएं पथ पर आगे बढ़ते हुए देश के लिए कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस मुक्त भारत का नारा दे रही थी किंतु आज कांग्रेस ने दक्षिण भारत को भाजपा से मुक्त करवा दिया तथा आने वाले समय में अन्य राज्यों से भी भाजपा सरकारों की विदाई तय है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी केवल तीन राज्यों में अपने दम पर सरकार बना पायी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता एवं कार्यकर्ता पूर्ण निष्ठा एवं अनुशासन के साथ कार्य करें क्योंकि जो निष्ठा से कार्य करता है उसे पार्टी द्वारा भरपूर प्रोत्साहन दिया जाता है और जो स्वार्थ के लिए पार्टी से चला जाता है वो कहीं का नहीं रहता। उन्होंने कहा कि सभी कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ता इस अवसर पर संकल्प लें कि स्व. श्री राजीव गाँधी के बताए मार्ग पर चलते हुए जनता के बीच जाकर पार्टी को मजबूत करने का कार्य करेंगे तथा आगामी विधानसभा चुनाव में पुन: प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाएंगे, यह सुनिश्चित करें।  


प्रदेश के मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत ने इस अवसर पर कहा कि मुझे स्व. श्री राजीव गाँधी के साथ उनके मंत्रिमण्डल में काम करने का मौका मिला जो कि एक महत्वपूर्ण अनुभव है। उन्होंने कहा कि स्व. गाँधी ने 18 वर्ष की आयु वाले युवाओं को मताधिकार इस सोच के साथ प्रदान किया कि देश के सबसे बड़ा वर्ग जो कि युवा है उन्हें सरकार की नीतियों के निर्माण में भागीदारी मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि युवाओं को मताधिकार देने का विपक्षी पार्टी और अन्य दलों ने विरोध किया था किंतु स्व. श्री राजीव गाँधी ने युवाओं को मताधिकार देकर देश का भविष्य चुनने का अवसर प्रदान किया। उन्होंने कहा कि संविधान में 73वाँ व 74वाँ संशोधन कर स्व. श्री राजीव गांधी ने पंचायती राज संस्थाओं में अनुसूचित जाति, जनजाति, ओबीसी एवं महिलाओं के लिए आरक्षण का प्रावधान कर सर्व समाज को मजबूत करने का कार्य किया। उन्होंने कहा कि कोई आदिवासी, दलित अथवा पिछड़ा सरपंच बनने की कल्पना भी नहीं कर सकता था किंतु स्व. श्री राजीव गाँधी के निर्णय से इन सभी वर्गों को मुख्यधारा की राजनीति में शामिल होने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को विदेशोंं में इसलिए सम्मान मिलता है कि वे गाँधी एवं नेहरू के देश जहाँ लोकतंत्र सबसे मजबूत है, के प्रधानमंत्री है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी लगातार गाँधी परिवार पर निशाना साधते रहते है जबकि पिछले 35 वर्ष से गाँधी परिवार का कोई सदस्य देश की किसी सरकार में शामिल नहीं रहा। उन्होंने कहा कि आज देश में जो आधारभूत ढांचा खड़ा है वह कांग्रेस की सरकारों की नीति एवं सिद्धान्त का परिणाम है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को नई युवा पीढ़ी को कांग्रेस की विचारधारा से जोडऩा होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ताओं को भारतीय जनता पार्टी द्वारा जिस प्रकार लोकतंत्र को कमजोर किया जा रहा है, संविधान की धज्जियाँ उड़ाई जा रही है तथा संवैधानिक संस्थाओं का दुरूपयोग किया जा रहा है, वह जनता के सामने उजागर करना होगा। उन्होंने कहा कि देश के सामने भयावह हालात है, देश किस दिशा में जा रहा है, यह कोई नहीं जानता। उन्होंने कहा कि कर्नाटक चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की हार से लोगों ने मन बनाना शुरू कर दिया है कि 2024 में केन्द्र की सत्ता से भाजपा को हटाना होगा। 


 गहलोत ने कहा कि श्री राजीव गाँधी एक-डेढ़ माह बाद भारत के पुन: प्रधानमंत्री बनने वाले थे लेकिन दु:खद घटना में उनकी शहादत हुई। यह दिन सभी कांग्रेसियों के लिए सबसे दु:खद दिन था एवं स्तब्ध करने वाला था। उन्होंने कहा कि स्व. श्री राजीव गाँधी के बताए मार्ग पर चलते हुए कांग्रेस के नेता एवं कार्यकर्ता देश को विकास के पथ पर ले जाएंगे। उन्होंने कहा कि आज के बुरे वक्त में जो पार्टी के लिए काम करेगा वो ही आगे जाकर सफल होगा, क्योंकि जो जितना फिरेगा वो उतना ही पाएगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने स्व. श्री राजीव गाँधी के विचारों का हमेंशा विरोध किया था। उन्होंने कहा कि जब स्व. गाँधी कम्प्यूटर की बात कर रहे थे तो भारतीय जनता पार्टी के लोग बैलगाड़ी में बैठ संसद पहुँचकर विरोध कर रहे थे जबकि आज कम्प्यूटर के बिना कोई भी कार्य विश्व में सम्पन्न नहीं होता। उन्होंने कहा कि पं. जवाहर लाल नेहरू ने भाखड़ा डैम बनाया था तब भी इस विचारधारा के लोगों ने यह कहकर विरोध किया था कि पानी से बिजली निकाल लेने पर पानी किसी काम का नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि धर्म एवं जाति के नाम पर भाजपा सत्ता में तो आ गई किंतु सत्य यह है कि आग लगाना आसान है परन्तु उसे बुझाना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के सभी नेता लोकतंत्र के दुश्मन है तथा विपक्ष एवं असहमति जताने वालों के साथ दुश्मनों जैसा व्यवहार करते है। 


उन्होंने कहा कि कांग्रेस के रायपुर अधिवेशन में जातिगत जनगणना करवाने का प्रस्ताव पारित कर केन्द्र सरकार को भेजा है किंतु केन्द्र सरकार द्वारा इस विषय पर कुछ नहीं बोला जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि जातिगत जनगणना हो तो सभी वर्गों को अपनी भागीदारी के अनुरूप विकास करने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि राजस्थान में तमाम कठिनाईयों के बावजूद कांग्रेस सरकार ने 5 प्रतिशत आरक्षण एमबीसी के लिए लागू किया जिसके परिणामस्वरूप इस वर्ग के लोगों को नौकरियाँ एवं अन्य लाभ प्राप्त हो रहे है। उन्होंने कहा कि ईडब्ल्यूएस के लिए भी राजस्थान सरकार ने पहल करते हुए शर्तों का सरलीकरण एवं शिथिलता प्रदान की जिसका लाभ प्रदेशवासियों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आज स्व. श्री राजीव गाँधी की पुण्यतिथि के अवसर पर सभी कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ता संकल्प लें कि प्रदेश में पुन: कांग्रेस की सरकार बने तथा वर्ष 2024 में केन्द्र से फासीवादी ताकतों को दूर करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगें।


प्रार्थना सभा में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. चन्द्रभान, राज्य मंत्रिमण्डल के सदस्य डॉ. महेश जोशी,  प्रतापसिंह खाचरियावास, श्रीमती ममता भूपेश, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष  सीताराम अग्रवाल, महासचिव एवं विधायक  प्रशान्त बैरवा, सचिव  ललित तूनवाल,  रामसिंह कस्वां,  प्रशान्त सहदेव शर्मा,  जसवन्त गुर्जर,  महेन्द्र सिंह खेड़ी,  जिया उर रहमान,  राजेन्द्र यादव, देशराज मीणा, श्रीमती प्रतिष्ठा यादव, प्रवक्ता  स्वर्णिम चतुर्वेदी,  आर. सी. चौधरी,  आर.आर. तिवाड़ी, विधायक  रफीक खान,  अमीन कागजी,  आलोक बेनीवाल, निगम/बोर्ड के अध्यक्ष  बृजकिशोर शर्मा,  मुमताज मसीह,  पुखराज पाराशर, डॉ. अर्चना शर्मा, डॉ. खानू खाँ बुधवाली,  महेश शर्मा, जयपुर हैरिटेज महापौर श्रीमती मुनेश गुर्जर, पूर्व केन्द्रीय मंत्री  नमोनारायण मीणा, पूर्व सांसद  अश्कअली टाक, डॉ. करण सिंह यादव, पूर्व विधायक  नवरंग सिंह,  अशोक तंवर, श्रीमती मंजू शर्मा,  सुशील शर्मा,  कैलाश सोयल,  सत्यनारायण सिंह,  हरसहाय यादव,  आबिद कागजी, श्रीमती ज्योति खण्डेलवाल,  गोपाल केसावत,  राजेन्द्र आर्य,  विक्रम सिंह शेखावत,  संजय बापना,  ओम राजोरिया,  अब्दुल हफीज जयपुरी,  अयूब खान, श्रीमती अनिता मीणा,  राकेश मीणा,  सतबीर चौधरी, डॉ. निजाम, मुहम्मद इकबाल, श्रीमती संगीता गर्ग,  गोपाल नावरिया,  सुनील आमेरिया,  यशवीर शूरा,  रामकरण कुमावत,  लादूराम बैरवा,  महेन्द्र राजोरिया,  राजू खान, श्रीमती हुकम मीना,  ओमप्रकाश जैदिया,  भंवरलाल सारण,  सुखदेव,  बृजकिशोर पाठक,  राजेश अत्री,  शरीफ खान,  दीपक धीर एवं  सत्येन्द्र सिंह जादौन सहित अनेक कांग्रेसजन उपस्थित रहे। 


Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे

18 जून को सुविख्यात ज्योतिषी दिलीप नाहटा पिंकसिटी में जयपुर वासियों को देंगे निशुल्क सेवा