उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे

 उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे 




जयपुर, 11 जुलाई । ए. सी. बी. मुख्यालय के निर्देश पर विशेष अनुसंधान इकाई, जयपुर द्वारा आज कार्यवाही करते हुये देशराज यादव उप रजिस्ट्रार सहकारी समितियाँ- - शहर, जयपुर एवं अरूण प्रताप सिंह निरीक्षक, सहकारी समितियाँ, जयपुर को परिवादी से 5 लाख रूपये की रिश्वत लेते हुये गिरफ्तार किया है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अतिरिक्त महानिदेशक  हेमन्त प्रियदर्शी (अतिरिक्त चार्ज महानिदेशक) ने बताया कि ए.सी.बी. की विशेष अनुसंधान इकाई, जयपुर को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि कॉपरेटिव सोसायटी के किरायेशुदा कार्यालय पर सहकारिता विभाग की टीम द्वारा डाली गई रेड की कार्यवाही में मदद करने की एवज में देशराज यादव उप रजिस्ट्रार सहकारी समितियाँ - शहर, जयपुर एवं अरूण प्रताप सिंह निरीक्षक, सहकारी समितियाँ, जयपुर द्वारा 20 लाख रूपये रिश्वत राशि की मांग कर परेशान किया जा रहा है।

जिस पर एसीबी जयपुर के उप महानिरीक्षक पुलिस रणधीर सिंह के सुपरवीजन में एसीबी विशेष अनुसंधान इकाई, जयपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  बजरंग सिंह शेखावत के निर्देशन में शिकायत का सत्यापन किया जाकर आज पुलिस निरीक्षक  रघुवीर शरण द्वारा मय टीम के ट्रेप कार्यवाही करते हुये देशराज यादव पुत्र  रामजीलाल यादव निवासी 15, सरस्वती नगर - ए, गैटार रोड़, मालवीय नगर, जयपुर हाल उप रजिस्ट्रार सहकारी समितियाँ - शहर, जयपुर एवं अरूण प्रताप सिंह पुत्र  श्याम सिंह निवासी फ्लेट नं0 808, आशियाना ग्रीन वुड, जगतपुरा, जयपुर हाल निरीक्षक, सहकारी समितियाँ, जयपुर को परिवादी से 5 लाख रूपये की रिश्वत राशि लेते हुये गिरफ्तार किया गया है। उल्लेखनीय है कि आरोपियों द्वारा शिकायत करने से पूर्व ही परिवादी से 5 लाख रुपये रिश्वत राशि के रूप में वसूल कर चुके थे ।

एसीबी के महानिरीक्षक  सवाई सिंह गोदारा के निर्देशन में आरोपियों से पूछताछ जारी है। 

Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

नाहटा को कई संस्थाएं करेंगी सम्मानित