राज्य भर में नर्सेज का अनिश्चितकालीन धरना शुरू

  राज्य भर में नर्सेज का अनिश्चितकालीन धरना शुरू 



एसएमएस हॉस्पिटल के मुख्य द्वार पर विशाल  धरना



जयपुर 18 जुलाई । राजस्थान नर्सेज संयुक्त संघर्ष समिति के द्वारा किए जा रहे प्रांतीय आंदोलन के तहत आज मंगलवार 18 जुलाई को राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू हों गया। संघर्ष समिति के संयोजक प्यारे लाल चौधरी,राजेंद्र राना,नरेंद्र सिंह शेखावत,भूदेव धाकड़, पुरुषोत्तम कुम्भज, पवन मीणा,श्रीमती प्रीतिरामदेव, रामवीर सोलंकी ,एवम कैलाश शर्मा ने संयुक्त बयान जारी कर बताया कि जयपुर में नर्सेज कर्मी 18 मई से लगातार ध्यानाकर्षण प्रदर्शन कर रहे परंतु  राज्य सरकार द्वारा ग्यारह सूत्री मांगों पर निर्णायक कार्यवाही नही करने से  नर्सेज को आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ा है।


   उन्होंने बताया कि 10 जुलाई को जयपुर में आयोजित प्रदेश स्तरीय संयुक्त नर्सेज महासमिति द्वारा लिए गए निर्णय की अनुपालना में राज्य भर में जिलास्तरो पर गठित हुई  नर्सेज संयुक्त संघर्ष समितियों के द्वारा लिए गए निर्णय के अनुसार आज  18 जुलाई को समस्त जिला मुख्यालयों पर अनिश्चित कालीन क्रमिक धरना एवम प्रदर्शनों की शुरुआत हो गई,जयपुर सहित सभी जिलों से जिला कलेक्टरों के माध्यम से मुख्यमंत्री जी को 15 अगस्त पूर्व मांगो का समाधान नहीं करने पर हड़ताल जैसे कठोर चरण अपनाने के लिए मजबूर नही करने का आग्रह किया गया है।।  जयपुर में सवाई मान सिंह चिकित्सालय के मुख्यद्वार पर प्रातः 11 बजे से प्रदेश संयोजक प्यारे लाल चौधरी , राजेंद्र राना एवम जयपुर जिला संयोजक अनेश कुमार सैनी, महीपाल सामोता, जे पी कस्बा, श्रीमती सुमोल कुमारी,, सोमसिंह मीना,राजू सोलंकी के नेतृत्व में क्रमिक धरने की शुरुवात हुई। नर्सिंग कर्मी पूरे राज्य में प्रतिदिन प्रातः 11 बजे से सांय 4 बजे तक धरना देंगे। 


   नर्सिंग कर्मियों की प्रमुख मांगो में  वेतन भत्तों की विसंगति दूर करने, एएनएम, नर्सिंग ऑफिसर,नर्सिंग ट्यूटर इत्यादि के पदोन्नति संबंधी पदो मे वृद्धि हेतु नर्सिंग केडर का पुनर्गठन ,संविदा से नियमित हुए नर्सिंग कार्मिकों के संविदा सेवा काल का नोशनल लाभ दिया जाने,  नर्सिंग ट्यूटर एएनएम वर्ग के पद नाम परिवर्तन करने , नर्सिंग ऑफिसर नर्सिंग ट्यूटर  का पद राजपत्रित करने , स्वतंत्र नर्सिंग निदेशालय की स्थापना, प्राथमिक उपचार का अधिकार देने , ड्रेस कोड में परिवर्तन इत्यादि 11 सूत्रीय मांगो को लेकर लंबे समय से  आंदोलनरत  हैं।                   

Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

नाहटा को कई संस्थाएं करेंगी सम्मानित

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे