उत्कृष्ट सोच, विनम्रता की प्रतीक , संवदेनशील, महिलाओं की आवाज़ - डॉ ज़ाहिदा शबनम

 उत्कृष्ट सोच, विनम्रता की प्रतीक , संवदेनशील, महिलाओं की आवाज़ - डॉ ज़ाहिदा शबनम


जयपुर । राज्य महिला सदन (नारी निकेतन) जयपुर संभाग की अध्यक्ष डॉ जाहिदा शबनम ने पदभार ग्रहण करने के दिन से ही सदन में आवासरत आवासनियों की समस्याओं को जानने के साथ ही समस्या निराकरण व उनके उत्थान के लिए क्या क्या ठोस कदम उठाए जा सकते हैं उसके लिए तीव्र गति से प्रयास करना प्रारंभ कर दिया था।  सामान्य आवासनियों के साथ सदन में रह रही हाफ वे होम व अध्ययनरत आवासनियों की पृथक  समस्याओं व आवश्यकताओं को देखते हुए उनके निराकरण और निस्तारण के मुस्तैदी से कार्य किए जा रहे हैं।


अध्यक्ष जाहिदा के लिए सबसे महत्वपूर्ण सर्वप्रथम सदन में वर्षों से रह रही आवासनियों का पुनर्वास करना प्राथमिकता पर रहा इस प्रक्रिया की जटिलता को देखते हुए अध्यक्ष जाहिदा ने स्वयं आवासनियों से बातचीत व काउंसलिंग करके अल्प समय में ही वर्षों से रह रही कई आवासनियों का अब तक पुनर्वास करवाकर उन्हें सकुशल घर भेजने मैं जाहिदा को सफलता मिल चुकी है। पुनर्वास के साथ ही जो अध्यनरत छात्राएं हैं उनके लिए रोजगार सेमिनार आयोजित किए गए ताकि उनको समाज की मुख्यधारा से जोड़कर स्वावलंबी बनाया जा सके तथा अन्य आवासनियो को स्किल ट्रेनिंग द्वारा आत्मनिर्भर करने के प्रयास भी तीव्र गति से किए जा रहे हैं ।


अध्यक्ष जाहिदा शबनम मुख्यमंत्री जी की महिला हितेषी व महिला कल्याणकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार के साथ ही इस बात के भी प्रयास कर रही हैं कि सदन की आवासनियों को इन योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक कैसे मिल सके साथ ही इनके लिए विशेष क्या योजनाएं बनाई जाएं , जिसके लिए अध्यक्ष जाहिदा शबनम जल्द ही राजस्थान की यशस्वी जनप्रिय मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत  से मिलकर चर्चा करेंगी। भारतीय परिवेश व संस्कृति में विवाह एक महत्वपूर्ण संस्कार है जो आवासनिया विवाह की इच्छुक हैं उनके लिए योग्य वर और घर की तलाश कर विवाह कराना अध्यक्ष जाहिदा का प्रयास रहेगा , जिसके लिए जल्द ही जिला कलेक्टर के साथ मीटिंग आयोजित कर प्रक्रिया को प्रारंभ किया जाएगा। इस सब के साथ ही अध्यक्ष जाहिदा के द्वारा कई नवाचार भी सदन में किए जा रहे हैं।


सदन की संवेदनशीलता व सुरक्षा को देखते हुए वहां  हाई रेजोल्यूशन कैमरे जिन्हें पुलिस के अभयकांड सेंटर से जोड़ने हेतु संबंधित विभाग को पत्र व व्यक्तिगत रूप से मिलकर प्रयास किए जा रहे हैं। वे पीड़ित आवासनियां जिनके कोर्ट केस चल रहे होते हैं या जिनको इस प्रकार की आवश्यकता हो उन आवासनियों को समय से विधिक सहायता व परामर्श भी उपलब्ध करवाया जा सके इसके लिए संबंधित विभाग को पत्र लिखा गया एवं विधिक कैंप का आयोजन भी किया गया । इसके साथ ही अध्यक्ष जाहिदा द्वारा आवासनियों के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य एवं  सामाजिक स्वास्थ्य पर भी ध्यान दे रही हैं ताकि जब आवासनियां वर्षों बाद सदन से बाहर आएं तो सामाजिक सामंजस्य बैठा सकें।

जयपुर एयरपोर्ट से लाई गई 12 नेपाली महिलाओं को जिन्हें सदन में रखा गया था जाहिदा शबनम ने अपनी सूझबूझ और कुशल प्रबंधन करते हुए नेपाल महिला एकता समाज की अध्यक्ष और बांग्लादेश से आई ह्यूमन ट्रैफिकिंग पर काम करने वाली कार्यकर्ता  व नेपाल एंबेसी के अधिकारियों के साथ मिलकर उन महिलाओं को सुरक्षित नेपाल पहुंचाया और वहां उनके रोजगार की भी व्यवस्था की ताकि भविष्य में वो और उन जैसी गरीब बेरोजगार महिलाएं फिर किसी के झांसे मैं न आएं और ऐसी घटनाओं को रोका जा सके। 

कर्मठ जुझारू और  संवदेनशील नेत्री अध्यक्ष डॉ जाहिदा शबनम इस बात के लिए निरंतर प्रयासरत हैं कि जो महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मुख्यमंत्री जी ने उन्हें सौंपी है जो भरोसा उन पर किया गया है उस पर वह पूर्णतया खरी उतरे इसके लिए जाहिदा प्रतिबद्ध हैं।

सदन की उन आवासनियों के साथ भी जाहिदा का एक आत्मीय रिश्ता बन गया है , जो मूक बधिर होते हुए केवल इशारों और अपने हावभाव से अपना प्रेम दर्शाती है वहीं अध्यक्ष जाहिदा भी अपना स्नेह वात्सल्य उन पर न्योछावर करती है ।

पूर्व में अध्यक्ष डॉ जाहिदा शबनम कनोडिया कॉलेज में प्रोफेसर , रेडियो एफएम एवं दूरदर्शन में स्वास्थ्य कार्यक्रमों मैं लंबे समय तक कार्य करने के साथ ही कई सामाजिक और जनचेतना के कार्यों से जुड़ी रही हैं। बहुआयामी व्यक्तित्व की धनी जाहिदा शबनम कई डॉक्युमेंट्रीज एवं फिल्मों व वेबसीरीज मैं भी अभिनय के साथ निर्देशन का भी अनुभव रखती है।

           अब तक सैकड़ों अंतरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय कार्यक्रमो में हिस्सा ले चुकी डॉ जाहिदा शबनम को उनके सामाजिक सरोकार , पर्यावरण सरंक्षण और शैक्षणिक कार्यों के लिए कई सम्मानों से नवाजा जा चुका है।  इनके अब तक  विभिन्न शोध पत्र कई राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पत्र पत्रिकाओं में  प्रकाशित हो चुके है

हाल ही में डॉ जाहिदा शबनम की लिखी किताब हाड़ौती व टोंक के मुस्लिम स्मारक भी प्रकाशित हो चुकी है।

अध्यक्ष डॉक्टर जाहिदा का मानना है कि वो केवल महिला सदन की महिलाओं की सेवा तक ही सीमित न रहकर अधिक से अधिक महिलाओ तक पहुंचकर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री जी की जनकल्याणकारी खासकर महिलाओं से जुड़ी योजनाओं को  हर ज़रूरतमंद महिला तक  पहुंचाने का और लाभान्वित करने का कार्य इसी मुस्तैदी जोश और जुनून से करती रहेंगी।



Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

मंत्री महेश जोशी ने जूस पिलाकर आमरण अनशन तुड़वाया 4 दिन में मांगे पूरी करने का दिया आश्वासन

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे