मानसरोवर काव्य सम्मेलन महाकुंभ का समापन

 मानसरोवर काव्य सम्मेलन महाकुंभ का समापन  

नव जनजागृति मंच व ब्राह्मण योद्धा फाउंडेशन ने किया सम्मानित



जयपुर (जे पी शर्मा )। मानसरोवर साहित्य अकादमी में 1 अगस्त से 11 अगस्त तक चलने वाले काव्यसम्मेलन महाकुम्भ का  सफलता पूर्वक समापन हो गया।समापन की इस घड़ी पर समूह के संस्थापक मान सिंह सुथार ने बात करने पर बताया कि सम्मेलन के समापन के अवसर पर जयपुर की दो प्रतिष्ठित संस्थाओं, नव जन जाग्रति मंच व ब्राह्मण योद्धा फाउंडेशन द्वारा संस्थापक सहित संचालक समूह को सम्मानित किया गया जो कि हमारे मंच के लिए बड़े ही गर्व और हर्ष का विषय है। नव जन जागृति मंच एवं ब्राम्हण योद्धा फाउंडेशन के द्वारा हमारे मंच को सम्मानित कर हमें खुशियों से भर दिया है, हमारे द्वारा किये गए आयोजन का ये वो पल है, जिसमें हमें हमारी सोच से कहीं अधिक अच्छा और बेहद कीमती प्रतिफल प्राप्त हुआ। इस कड़ी को आगे जोड़ते हुए सुथार कहते हैं कि इस तरह के आयोजन हम आगे भी करते रहेंगे। इस अवसर पर कशिश अनकही कथा मंच से आईं मुख्य अतिथि के रूप में  संस्थापिका कंचन वार्ष्णेय एवं अध्यक्ष राजन ढींगरा ने समूह के इस पहल की सराहना करते हुए कहा इस तरह के आयोजन आपसी संबंध को मजबूती प्रदान करेंगे और एक दूसरे मंच में एकजुट होकर चलने की रुचि बढ़ेगी।हमें सबको एक साथ मिलकर आगे चलना होगा, इससे ही साहित्यिक विकास संभव है।सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता कमल पुण्डीर ने मुख्य अतिथि के रूप में पधारकर मान सिंह को आयोजन की सफलता की बधाई देते हुए कहा की इतने बड़े स्तर पर आयोजन कर तथा दूसरे मंचों को साथ में जोड़कर आपने एक मिशाल कायम की है जो आने वाले समय में लोग आपको आदर्श मानकर इसे अपनाएंगे। मणि माला शर्मा बरिष्ठ पत्रकार ,राज श्री साहित्य अकादमी, रंजन लाल बेफिक्र, कलमकारों की दुनिया से संस्थापिका सम्पदा ठाकुर ,शिवम झा कबीर संस्थापक राब्ता जमीं से आसमाँ तक,सुप्रसिद्ध गायक राजेन्द्र अग्रवाल आदि ने मुख्य अतिथि के रूप में पधारकर मानसरोवर मंच को अपनी अपनी शुभकामनायें दी। सुथार ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अब अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में 15 घंटे का लगातार महा सम्मेलन एक बार फिर से आयोजित होगा, जो कि हमारे देश के वीर शहीदों की याद में भारत भूमि, राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा आदि विषयों पर आधारित एक दिवसीय कार्यक्रम रहेगा। इस अवसर पर ब्राह्मण योद्धा फाउंडेशन की अध्यक्ष अदिति शर्मा एडवोकेट, सांस्कृतिक प्रभारी व काव्यस्थली मंच की संस्थापक डॉ सुनीता शर्मा तथा जाग्रति मंच की महिला अध्यक्ष मंजू शर्मा ने बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

नाहटा को कई संस्थाएं करेंगी सम्मानित

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे