काशी में होने वाली शिव महापुराण कथा की तैयारी हुई तेज

 काशी में होने वाली शिव महापुराण कथा की तैयारी हुई तेज


जयपुर । 27 दिसम्बर से काशी बनारस मे होने वाली विशाल श्री शिव महापुराण कथा के के लिए 26 दिसंबर को ट्रेन नंबर 12404 से जयपुर से प्रयागराज होते हुये काशी के लिए यात्रा प्रस्थान करेगी

 कथाव्यास- आचार्य सत्यप्रकाश जी महाराज अपनी सुमधुर वाणी से 27 दिसंबर से 2 जनवरी तक श्री शिव महापुराण की कथा श्रवण करेंगे।

कथा के उपलक्ष में मीटिंग आयोजित की गई , इस मीटिंग का मूल ध्येय 7 दिन चलने वाली शिवपुराण कथा और यात्रा में जाने वाले 251भक्तों को सुख पूर्वक  सम्पूर्ण सुविधा दी जाए इस विषय पर चर्चा हुई। जिसमें जयपुर से 26 दिसम्बर को ट्रेन से जाने वाले यात्रियों की व्यवस्था,यात्रियों के काशी पहुंचने से पहले सबको रूम अलोट करने की व्यवस्था, कथा कलश यात्रा के बारे में विचार किया गया। सभी माताए अपने साथ में तांबे का लोटा और नारियल अपने साथ लेकर  चलेगी । कलश यात्रा में सभी माता बहनों को चुनरी या लाल रंग की साड़ी पहनना अनिवार्य होगा, बैंड बाजों के साथ धूमधाम से कलश यात्रा निकाली जाएगी

 इसके बाद कथा के मंच संचालन की व्यवस्था, नित्य -प्रति मंडल देवताओं की पूजन -अर्चन की व्यवस्था की जायेगी । हलवाई को 7 दिन का अलग-अलग दिन अलग अलग नाश्ते की व्यवस्था, दोपहर के भोजन की व्यवस्था, शाम के भोजन की अलग-अलग व्यवस्था का मीनू तैयार करके दिया।

 बाबा विश्वनाथ की पावन धरा पर नव वर्ष के उपलक्ष में होंगी 1100 पार्थिव शिवलिंगों का रुद्राभिषेक रुद्राष्टाध्यायी पाठ के द्वारा काशी के विद्वान ब्राह्मणों द्वारा  रुद्राभिषेक पूजा की जायेगी। पूजा का मुख्य उद्देश्य विश्व शांति और यजमानो की मनोकामना पूर्ति के लिए होगा। साथ ही नव वर्ष के उपलक्ष  में विशाल  भजन संध्या का भव्य आयोजन होगा।

 जिसमे काशी के जाने-माने कलाकारों  द्वारा प्रस्तुति दी जाएगी और साथ ही विभिन्न झांकियों के दर्शन कराये जायेगे। कथा के मध्य में शिव पार्वती जी के विवाह का भव्य आयोजन होगा जिसमें शिवजी की बारात आएगी उसमें कलाकारों द्वारा सुंदर-सुंदर झांकियां दिखाई जायेगी। उसे दिन सभी भक्तों के लिए खीर मालपुआ की प्रसादी  दी जायेगी साथ ही संत ब्राह्मण भंडारा भी किया जाएगा।

 श्री गणेश जन्मोत्सव के दिन श्री गणेश जी महाराज रिद्धि सिद्धि शुभ लाभ  की  सुंदर झांकी और उनकी उनकी लीला दिखाई जाएगी। इस दिन सभी कथा प्रेमियों दाल बाटी चूरमा की प्रसादी दी जाएगी

 कथा के मध्य श्री दुर्गा देवी की उत्पत्ति के दिन कन्याओं का चरण पूजन, अर्चन और भोजन प्रसादी की जायेगी। कथा के मध्य श्री भैरव उत्पत्ति के दिन भी विशेष झांकियां और रुद्र अवतार श्री  हनुमान जन्मोत्सव के दिन विशेष झांकियां दिखाई और इस दिन सामूहिक संगीत में हनुमान चालीसा पाठ किया जायेगा ।

 कथा के विश्राम दिवस के दिन विशाल यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। जिसमें सभी साथ गए हुए यात्री हवन पूर्णाहुति कर सकेंगे उसके बाद संत ब्राह्मणों को भोजन भंडारा का विशाल आयोजन होगा।काशी में आयोजन महंत श्री श्री बालक दास जी महाराज के सानिध्य में होगा। 2 जनवरी को ट्रेन नंबर 14863 मरुधर एक्सप्रेस से यात्रा काशी से जयपुर के लिए प्रस्थान करेगी। इस विशाल और भव्य आयोजन में जो भी भक्तजन अपने तन मन धन का सदुपयोग करना चाहते हैं वह कर सकते हैं। इस आयोजन मे आचार्य सत्यप्रकाश जी महाराज ने रामस्वरूप सैनी को कथा का पांडाल मैनेजमेंट व्यवस्था , कृष्ण मुरारी इंदौरिया  को कोषाध्यक्ष, विष्णुप्रसाद गुप्ता को सह कोषाध्यक्ष बनाया ,मनोज शुक्ला  को नित्य प्रति पूजा संबंधित व्यवस्थाएं सोपी।

 सूर्यप्रकाश  शर्मा व राजेश  अग्रवाल को भोजन भंडारा संबंधी व्यवस्थाये सोपी। आचार्य जी ने सत्यम शिवम सुंदरम ट्रस्ट के द्वारा हर बर्ष अलग-अलग तीर्थो में कथा गया जी विहार में, श्री राम हर्षण निकुंज  अयोध्या जी मे , उज्जैन कुम्भ में प्रयागराज कुम्भ  में हरिद्वार में गिर्राज जी में कथाये की है । इस बर्ष मातृशक्ति ॐ कार महिला मंडल को आगे रख करके काशी में भव्य शिव महापुराण आयोजन होने जा रहा है।

 जो कोई भी भक्त जन इस  पुनीत धार्मिक कार्य में अपना तन मन धन से सहयोग करके अपना जीवन धन्य बनाना चाहते हैं वह संपर्क कर सकते हैं और जो कोई भक्त जन काशी जाना चाहते है वो 10 दिसम्बर से पहले अति शीघ्र बुकिंग करवा करके अपनी सीट कंफर्म कर सकते हैं।

Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

नाहटा को कई संस्थाएं करेंगी सम्मानित

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे