पांच वर्ष पूर्व राम मंदिर बनने की भविष्य वाणी सत्य साबित

पांच वर्ष पूर्व राम मंदिर बनने की भविष्य वाणी सत्य साबित 


ब्यावर । सुविख्यात ज्योतिषी दिलीप नाहटा द्वारा की गई राम मंदिर बनने की भविष्यवाणी सत्य साबित होने के कगार पर -- 05 जून 2019 को जोधपुर के एक समाचार पत्र ने ब्यावर जिले के एस्ट्रोलॉजर एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ दिलीप नाहटा द्वारा की गई इस भविष्यवाणी की खबर को प्रकाशित किया था जिसमें कहा गया था कि अगले 05 सालों के भीतर अयोध्या में राम मंदिर भी बन सकता है। यदि इन पांच सालों में मंदिर नहीं बना तो आने वाले 100 साल में भी मंदिर नहीं बन पाएगा ।


 यह खबर 2019 के जून महिनें में उस समय प्रकाशित हुई थी जब राम मंदिर बनने की कोई भी उम्मीद शेष नही बची थी और उस समय सुप्रीम कोर्ट का भी फैसला नहीं आया था और इस भविष्यवाणी मे अयोध्या में राम मंदिर बनने हेतू केवल मात्र 05 वर्ष की ही समय अवधि दी गई थी और इस भविष्यवाणी के प्रकाशन के ठीक 05 वर्षों के भीतर - भीतर ही यानी 60 महीनों के अंदर - अंदर ही यानी 22 जनवरी 2024 को अयोध्या में राम मंदिर बनने जा रहा है और सबसे बड़ी बात है कि नाहटा द्वारा की गई राम मंदिर बनने की 60 महीनों के टारगेट की इस भविष्यवाणी में केवल मात्र अभी 55 महीने ही व्यतीत हुए है । 


इस भविष्यवाणी को देश में बड़ी उपलब्धि के रूप में देखा जा रहा है । इससे यह माना जा रहा है की भारतीय ऋषि - मुनियों द्वारा प्रदत्त ज्योतिष विद्या कहीं न कहीं सास्वत है , इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता , हां ज्योतिष विद्या पर सही ढंग से शोध करने वालों की कमी जरुर है , ज्ञात रहें की पिछले कुछ वर्षों के भीतर एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा की राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर की 400 से अधिक भविष्यवाणीयां अब तक सत्य साबित हो चुकी है एवं पिछ्ले कुछ वर्षों के दौरान नाहटा द्वारा लगातार की जा रही सटीक भविष्यवाणियों के माध्यम से उन्होनें न केवल अपने ईस्ट गुरु जैन आचार्य 1008 श्री हस्ती मल जी महाराज साहब का नाम एवं नीमाज गांव स्थित उनके समाधि स्थल का नाम भी देशभर में अमर कर दिया अपितु ब्यावर जिले का नाम भी देशभर में ज्योतिष के क्षेत्र में विख्यात कर ब्यावर जिले का गौरव भी बढ़ाया है एवं भारतीय ऋषि - मुनियों द्वारा ऋषि परंपरा एवं ज्योतिष विद्या का सम्मान देशभर में  प्रचारित कर ऋषि परंपरा एवं ज्योतिष विद्या का गौरव बढ़ानें में एवं भीम तहसील में टाटगढ़ स्थित दुदेश्वर महादेव मंदिर का भी आशीर्वाद एवं दुदेश्वर महादेव का गौरव बढ़ानें में एस्ट्रोलॉजर नाहटा अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते जा रहें है । ज्ञात रहे कि एस्ट्रोलॉजर दिलीप नाहटा अभी तक निमाज का स्थित हस्तीमल जी महाराज साहब की समाधि स्थल से एवं भीम तहसील में टाटगढ़ स्थित दुदेश्वर महादेव मंदिर के आशीर्वाद से अब तक कई हजार व्यक्तियों को नॉन वेज एवं शराब छुड़ा चुके है एवं हर इंसान को एक अच्छा इंसान बनाने के लिए अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते जा रहें है ।

Comments

Popular posts from this blog

मंत्री महेश जोशी ने जूस पिलाकर आमरण अनशन तुड़वाया 4 दिन में मांगे पूरी करने का दिया आश्वासन

कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस को बंपर सीटें

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे