सर्वाइवल टेक्नोलॉजीज के बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा

      सर्वाइवल टेक्नोलॉजीज के बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा



           पूर्व सीएफओ को हाईकोर्ट से मिली राहत


मुंबई। गुड्स एंड सर्विस टैक्स इंटेलिजेंस (डीजीजीआई) ने सर्वाइवल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा किया है। डीजीजीआई ने सर्वाइवल टेक के कार्यालय एवं इसके मालिक विजय अग्रवाल और निमई अग्रवाल के आवासीय परिसरों पर छापेमारी कर करोड़ों की चांदी, नकदी के साथ ही भारी मात्रा में तस्करी के अंतरराष्ट्रीय सोने के बिस्कुट जब्त किए। निमई अग्रवाल पहले भी फर्जीवाड़े को लेकर जेल जा चुका है। कंपनी के मालिकों ने तत्काल गिरफ्तारी से बचने के लिए 12 करोड़ से अधिक जीएसटी का भुगतान कर दिया। हालांकि इस मामले की जांच जारी है। दरअसल सेबी ने विगत फरवरी में कंपनी को एक हजार करोड़ रुपए जुटाने के लिए डीआरएचपी की मंजूरी दी थी लेकिन कंपनी के पूर्व सीएफओ दिनेश भालोटिया के कंपनी के फर्जीवाड़े का समय रहते खुलासा करने के कारण आईपीओ को रोक दिया गया। इसके बाद लेखा परीक्षकों ने कंपनी का फॉरेंसिक ऑडिट शुरू किया। कंपनी ने दूर्भावना से ग्रस्त होकर दिनेश भालोटिया और उनकी पत्नी के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज करा दी, जिसे हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया है। कंपनी की विभिन्न एजेंसियां जांच कर रही हैं।

Comments

Popular posts from this blog

नाहटा की चौंकाने वाली भविष्यवाणी

नाहटा को कई संस्थाएं करेंगी सम्मानित

उप रजिस्ट्रार एवं निरीक्षक 5 लाख रूपये रिश्वत लेते धरे